breaking news New

माता की डोली व छत्र का स्वागत उमड़ा भक्तों का सैलाब, जमकर आतिशबाजी

माता की डोली व छत्र का स्वागत उमड़ा भक्तों का सैलाब, जमकर आतिशबाजी

जगदलपुर, /दंतेवाड़ा से आई मावली माता के छत्र व डोली के स्वागत के लिए मंगलवार शाम सड़कों पर भक्तों सैलाब उमड़ पड़ा। गीदम रोड स्थित जिया डेरा तक मांझी, मुखिया देवी के स्वागत के लिए गए और उन्हें लेकर राजमहल की ओर लौटे।

रास्ते भर माता के जयकारे लगते रहे। गीदम रोड से संजय बाजार तक छत्र को नमन करने होड़ लगी रही।  कुटरू बाड़ा के पास बने स्वागत स्थल पर राज परिवार के लोगों व माता के  पुजारियों ने माता की डोली कंघे पर उठाया।

दंतेश्वरी मंदिर के लिए निकली इस शोभायात्रा के दौरान आगे आगे आंगा देव झूमते रहे। यात्रा के आगे लगातार आतिशबाजी होती रही। इस दौरान शांति व्यवस्था बनाए रखने के  लिए काफी संख्या में सुरक्षाकर्मी मौजूद थे।

परंपरागत पहनावे के साथ मुंडाबाजा वादक शहनाई की धुन के  साथ डोली लेकर राजमहल परिसर पहुंचे। यहां सिंहड्योढ़ी तक लोगों ने फूलों की वर्षा कर मावली माता स्वागत किया।

माता के छत्र को देखने व प्रणाम करने के लिए लोग उमड़ पड़े। इस दौरान  दंतेश्वरी माता के छत्र को चंदन का लेप लगाकर व नए वस्त्र से ओढकर फूलों से ढक दिया गया। छत्र के स्वागत के लिए  पूर्व  युवा आयोग अध्यक्ष व माटी पुजारी कमलचंद्र भंजदेव, सांसद एवं बस्तर दशहरा समिति के अध्यक्ष  दीपक बैज, संसदीय सचिव  रेखचन्द जैन, नारायणपुर विधायक चन्दन कश्यप, कमिश्नर  जीआर चुरेन्द्र, कलेक्टर  रजत बंसल सहित जनप्रतिनिधिगण व हजारों की संख्या में लोग मौजूद थे।

जमकर आतिशबाजी

दंतेश्वरी मंदिर के पास मावली माता के स्वागत के लिए जमकर आतिशबाजी की गई। पूरा आसमान रोशनी से जगमगा उठा।