breaking news New

BIG NEWS : सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

BIG NEWS :  सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

विपक्षी सदस्यों के व्यवहार की विशेष समिति से जाँच कराने की गोयल की मांग

नयी दिल्ली।  राज्यसभा में सदन के नेता पीयूष गोयल ने मानसून सत्र में विपक्षी दलों के विरोध के दौरान हुये घटनाक्रमों की एक विशेष समिति से जाँच कराने की मांग की ताकि भविष्य में इस तरह की घटनाओं की पुनरावृर्ति न:न हो।

सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किये जाने से पूर्व श्री गोयल ने कहा कि विपक्षी दलों के सदस्यों ने सदन और देश का अपमान किया है। जिसके कारण उनके आचरण की जाँच कराने की जरूरत है ताकि उनके विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जा सके जिससे भविष्य में इस तरह की घटनायें नहीं हो सके।

उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों के सदस्यों को विरोध करने का पूरा अधिकार है लेकिन महासचिव के मेज पर चढ़ने और एक महिला मार्शल का गला दबाये जाने के प्रयास तथा एक चैंबर के काँच को तोड़े जाने की घटनायें बहुत दुखद है और इसकी पूरे सदन की ओर से निंदा की जाती है।

उन्होंने कहा कि वह 11 वर्षाें से इस सदन के सदस्य हैं लेकिन कभी भी विपक्षी दलों के सदस्यों इतना खराब व्यवहार नहीं देखा था। सभापति और सरकार ने सदन को सुचारू रूप से चलाने का हरसंभव प्रयास किया तथा कोविड, अर्थव्यवस्था और किसानों की समस्याओं को लेकर चर्चा कराने पर विपक्ष के साथ सहमति भी बनी लेकिन कोविड पर ही चर्चा हो सकी।

उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों के सदस्यों ने पूर्व नियोजित योजनाओं के तहत सदन को चलने नहीं दिया जो सदन और सभापीठ का अपमान है। विरोध के दौरान सदन में कोविड प्रोटोकॉल का भी पालन नहीं किया गया और पहले दिन से ही विपक्ष की मंशा सदन को चलने देने की नहीं थी।