breaking news New

मुख्यमंत्री को दिखाने के लिए जिला प्रशासन ने कर दिया गोभी कांड

 मुख्यमंत्री को दिखाने के लिए जिला प्रशासन ने कर दिया गोभी कांड

आदर्श गोठान को हरा भरा दिखाने गढ़ा खोदकर लगा दी गोभी

गोभी लगाने का फोटो वायरल होने के बाद गोठान प्रबधन की लापरवाही उजागर

नारायणपुर। जिले में मुख्यमंत्री का 2 दिवसीय प्रवास निर्धारित था। इस प्रवास को सफल बनाने के लिए जिला प्रशासन ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी। इसमें  मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना का क्रियान्वयन जमीनी स्तर पर जिले हो रहा इसको मुख्यमंत्री को दिखाने के लिए जिला प्रशासन ने गोभी कांड कर दिया। इसमें जिला प्रशासन की देखरेख में आदर्श गोठान केरलापाल कों मुख्यमंत्री को दिखाने के लिए की जा रही तैयारी के बीच गढ़े खोदकर गोभी लगा दी। केरलापाल गोठान को सब्जी-फाजी से हरा भरा दिखाने के चक्कर में आनन-फानन में फसल में तैयार हो गई गोभी को दूसरी जगह से लाकर केरलापाल गोठान में गढ़ा खोदकर इस गोभी को लगा दिया गया। 

इस दौरान गोभी को गोठान में लगाते समय का फोटो किसी ने खींचकर इसको सोशल मीडिया वायरल कर दिया। इस फोटो के वायरल होते ही जिला प्रशासन और गोठान प्रबधन समिति द्वारा वाहवाही लूटने के लिए की कारगुजारी उजागर हो गई। इस फोटो को देखकर शुक्रवार से लेकर मुख्यमंत्री प्रवास समाप्त होने के बाद भी गोभी कांड की जगह-जगह चर्चा होने लगी। मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना में पलीता लगाने में जिला प्रशासन ने कोई कसर नही छोड़ी। इससे मुख्यमंत्री प्रवास के दौरान गोभी कांड ने जिला प्रशासन कार्यप्रणाली पर सवालियां निशान खड़ा कर दिया। इससे मुख्यमंत्री प्रवास के दौरान गोभी कांड से जिला प्रशासन सहित प्रदेश सरकार की छवि धूमित होते नजर आई। जानकारी के अनुसार प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का 2 दिवसीय नारायणपुर जिले में प्रवास नियत था। इसमे मुख्यमंत्री शनिवार और रविवार को दो दिन विभिन्न निर्माण कार्यो का लोकार्पण-भूमिपूजन करने सहित गोठान का निरीक्षण, मलखभं खिलाडियों से मुलाकत एंव फूल झाडू निर्माण में लगी महिलाओं से मुख्यमंत्री के मुलाकात का कार्रूक्रम नियत था। इससे मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना का क्रियान्वयन जमीनी स्तर पर जिले हो रहा इसको दिखाने के लिए जिला प्रशासन अपनी तैयारी में जुट गया था।  

इसमे जिला प्रशासन ने नरवा, गरुवा, घुरवा और बाड़ी योजना क्रियान्वयन जिले में दिखाने के लिए जिले के केरलापाल स्थित गोठान का चयन किया था। इसमे केरलापाल गोठान को आदर्श गोठान के रूप मुख्यमंत्री के सामने प्रदर्शित करने के लिए जिला प्रशासन ने अपनी कवायद तेज कर दी।  इसके लिए जिला प्रशासन ने अपनी पूरी ताकत झोकते हुए केरलापाल गोठान में मवेशियों के जमावडा सहित गोठान को हरा- भरा दिखाने के लिए आनन-फानन तैयाारियों में शुरू कर दी थी। इस तैयारियों में गोठान में किसानों को सब्जी-फांजी फसल  लेने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। इसको भी मुख्यमंत्री के सामने प्रदर्शित करना था। लेकिन गोठान में सब्जी-फांजी फसल को नहीं  लिया गया था। 

इससे मुख्यमंत्री को दिखाने के लिए दूसरी जगह फसल में तैयार हुई गोभी लाकर इसको आदर्श गोठान केरलापाल में गढे खोदकर लगा दिया गया। इस तरह गोठान प्रबंधन समिति ने गुरूवार को केरलापाल गोठान में गढ़े खोदकर फसल में पहले से तैयार गोभी को जगह-जगह लगा दिया गया। इस गोभी को लगाने के समय का फोटो किसी ने खींचकर इसको सोशल मीडिया में शुक्रवार की शाम वायरल कर दिया। इस फोटो के वायरल होते ही आदर्श गोठान केरलापाल में मुख्यमंत्री प्रवास को लेकर जिला प्रशासन द्वारा की जा रही तैयारियों की पोल खुल गई।