breaking news New

कृषि मंत्री रवीन्द्र चौबे ने मरवाही को कांग्रेस का गढ़ बताते हुए कहा -जनता कांग्रेस में विभाजन के दिख रहे हैं साफ संकेत

कृषि मंत्री रवीन्द्र चौबे ने मरवाही को कांग्रेस का गढ़ बताते हुए कहा -जनता कांग्रेस में विभाजन के दिख रहे हैं साफ संकेत

रायपुर।  छत्तीसगढ़ के कृषि मंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता रवीन्द्र चौबे ने कहा हैं कि जनता कांग्रेस में विभाजन के साफ संकेत है,पर कांग्रेस अपनी ओर से दलबदल को प्रोत्साहित नही करेंगी।

कृषि मंत्री चौबे ने आज यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल दलबदल को प्रोत्साहित नही करने की बात खुलकर कर चुके है।अगर इसके बाद भी जनता कांग्रेस के विधायक विधानसभा अध्यक्ष के पास कोई आवेदन देंगे तो उस पर उन्हे निर्णय लेना है।उन्होने मरवाही को कांग्रेस का गढ़ बताते हुए कहा कि स्वं अजीत जोगी को वहां के लोग विधानसभा चुनाव में वोट कर दिया करते थे कि वह कांग्रेस के नेता रहे है।

उन्होने कहा कि भाजपा के लोग धान खरीद को लेकर राजनीति कर रहे है जबकि केन्द्र का रवैया राज्य के प्रति अनुकूल नही है।राज्य को धान खरीद के लिए 14 लाख गठान वारदानों की तत्काल जरूरत होंगी पर इस बारे में केन्द्र का अभी तक रूख सामने नही आया है।उन्होने एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि रमन सरकार के कार्यकाल में राज्य में 19 हजार किसानों ने आत्महत्या की थी उन्हे बताना चाहिए कि कितने मामलों में उन्होने मुआवजा दिया था।

कृषि मंत्री चौबे ने कहा कि राज्य सरकार तय समय से धान की खरीद ही नही करेंगी बल्कि इसका इस बार विस्तार भी होगा।प्राथमिक सहकारी समितियों का इस बार राज्य सरकार ने पुनर्गठन किया है,जिसके कारण 800 नई समितियां गठित हुई है।यहां भी खरीद होंगी।उन्होने मंडी संशोधन विधेयक के बारे में पूछे जाने पर कहा कि इसे विधानसभा में पारित होने के बाद नियमानुसार हस्ताक्षर के लिए राज्यपाल के पास भेज दिया गया है।उन्होने कहा कि विधेयक में केन्द्र के किसी कानून का उल्लंघन नही किया गया है।

उन्होने वरिष्ठ कांग्रेस नेता राहुल गांधी के राज्योत्सव में एक नवम्बर को आने के बारे पूछे जाने पर कहा कि संभावना है कि वह समारोह में वर्चुवल शामिल होंगे लेकिन केन्द्र के कृषि कानूनों के खिलाफ आयेजित होने वाली ट्रैक्टर रैली में उनके शामिल होने की पूरी संभावना है।