breaking news New

18 से 44 वर्ष के टीकाकरण अभियान राज्य सरकार के टीकाकरण नीति के मकड़जाल में फसा - रंजना साहू

18 से 44 वर्ष के टीकाकरण अभियान राज्य सरकार के टीकाकरण नीति के मकड़जाल में फसा - रंजना साहू

धमतरी, 9 मई। देश के यशस्वी प्रधानमंत्री जहां युवाओं के लिए 18 से 44 वर्ष की आयु के सभी लोगों को वैक्सीनेशन कर रही है, वहीं पर छत्तीसगढ़ प्रदेश की सरकार इस वैक्सीनेशन में रोड़े डालते हुए एपीएल, बीपीएल और अंत्योदय राशन कार्ड का नियम लगाकर टीकाकरण अभियान में विघ्न डालने का कार्य कर रही है। 

कोरोना संक्रमण को रोकने  के लिए पूरे प्रदेश में टीकाकरण किया जा रहा है, जिसमें राशन कार्ड का नियम लागू करने से वैक्सीनेशन में परेशानियां हो रही है। एक वैक्सीन में टीके की 10 डोस रहता है टीकाकरण केंद्रमें अलग अलग वर्गों के लिए वेक्सीन भेजा  जा रहा है जिसमे कम की उपस्थिति में या तो इंतजार करना पड़ रहा है या अगले दिन बुलाया जा रहा जिससे टीकाकरण अभियान जिस गति से चलना चाहिये नही चल पा रहा है, साथ ही टीकाकरण करने वाले स्टाफ को विभिन्न समस्याओं का सामना करना पड़ा है। 

क्षेत्र में 18 से 44 वर्ग में टीकाकरण को लेकर काफी उत्साहित है और कोरोना संक्रमण रोकथाम के लिए टीकाकरण अति आवश्यक है, ऐसे में सरकार के द्वारा राशन कार्ड के आधार पर टीकाकरण करना निंदनीय कार्य है। विधायक श्रीमती साहू में राज्य सरकार से मांग की है कि टीकाकरण में तेजी लाने एवं व्यवस्था में सुधार लाते हुए 18 से 44 वर्ष के जो भी व्यक्ति टीकाकरण ले लिए केन्द्र पहुँचने पर तुरन्त टिका लगाय जावे  एवं राज्य सरकार कोविड 19 के नियंत्रण में जल्द से जल्द टीकाकरण अभियान को पूर्ण करे ।