breaking news New

38 साल के संघर्ष के बाद मिली सौगात : मनेंद्रगढ़ चिरमिरी की जनता के हक के लिए दे दूंगा बलिदान- विधायक

 38 साल के संघर्ष के बाद मिली सौगात :  मनेंद्रगढ़ चिरमिरी की जनता के हक के लिए दे दूंगा बलिदान- विधायक

विनय जयसवाल ने कहा कि हमारे मुखिया मुख्यमंत्री यशस्वी भूपेश बघेल जी ने दे दिया है और हमारे हक का संरक्षण और संवर्धन हो गया है

मनेंद्रगढ़ विधानसभा के विधायक विनय जयसवाल ने कहा  कि हमारे मुखिया प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल  ने मूलभूत सुविधाओं से दूर क्षेत्र को विकास के पथ पर ले जाने के लिए जहां 4 नये जिलों की सौगात देकर प्रदेश में खुशी की लहर पैदा कर दी है।

ऐसे में अब चिरमिरी के कांग्रेस विधायक जनता के साथ खड़े नजर आ रहे। इसके लिए जनता के बीच और सोशल मीडिया में उन्हें और सीएम भूपेश बघेल को जबरदस्त समर्थन मिल रहा है।

  विधायक विनय जयसवाल ने पोस्ट में उन्होंने लिखा है, जिस प्रकार से मनेन्द्रगढ़ चिरमिरी भरतपुर के हक को हमने 38 साल के बाद पाया है।आज वही जो 38 वर्ष पहले हमारे जल जंगल जमीन को छीनने का काम किया था ।आज वही सामंत साह हमारे लोगों के हक को जो हमें मिला है, उसको छीन ना चाहते हैं। मैं बार-बार अपने मनेंद्रगढ़ चिरिमिरी भरतपुर के भाइयों से निवेदन करना चाहता हूं, कि हमको हमारा हक 38 साल के बाद हमारे मुखिया मुख्यमंत्री यशस्वी भूपेश बघेल जी ने दे दिया है ।

 हमारे हक का संरक्षण और संवर्धन हो गया है ।लेकिन आज भी सामंती हमें अपने अधिकारों से वंचित करना चाहते है। मैं निवेदन करता हूं अपने विधानसभा के सभी क्षेत्रों के नागरिक बंधुओं से की सभी को यथोचित सम्मान के साथ आज उनका हक मिलेगा हमको अपनी एकता दिखानी है।”मनेंद्रगढ़ चिरमिरी के जनता के आशीर्वाद को अपने खून के बलिदान से भी चुकाऊंगा अगर कोई सामंत इसके बीच आता है तो भीषण रण से पीछे नहीं हटूंगा।”

38 वर्षों के संघर्षों बाद मनेन्द्रगढ़ को मिले जायज हक को लेकर इधर, अब विधायक गुलाब कमरों भी मनेंद्रगढ़ जिले बनाने के विरोध करने वाले सामंतवादीधारा की सोच रखने वालों के खिलाफ  साथ खड़े हो गये हैं।