breaking news New

विधायक पुत्र ने शराब के नशे में आदिवासी महिला को पीटा, पीड़ित परिवार जेल में! बलरामपुर जिले के रामानुजगंज विधानसभा का मामला

विधायक पुत्र ने शराब के नशे में आदिवासी महिला को पीटा, पीड़ित परिवार जेल में! बलरामपुर जिले के रामानुजगंज विधानसभा का मामला

रामानुजगंज. विधायक के बेटे को शराब पीकर हंगामा करने को मना करना एक आदिवासी परिवार को भारी पड़ गया. विधायक पुत्र द्वारा पहले पीड़ित परिवार के घर में घुस के मार-पीट की गई, फिर प्रताड़ित परिवार के विरुद्ध एफआईआर करवा के जेल में डलवा दिया गया।

घटना छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले के रामानुजगंज विधानसभा का है। रामानुजगंज से लगे ग्राम पंचायत पिपरौल निवासी सुमति अगरिया पति देवनाथ अगरिया ने पुलिस चौकी विजयनगर को पंचनामा सह ज्ञापन सौंपकर अवगत कराया है कि दिनांक 28 अक्टूबर 2020 रात्रि 9 बजे स्थानीय विधायक वृहस्पति सिंह का पुत्र मंटू सिंह अपने कुछ दोस्तों के साथ पिपरौल गांव पहुंचे और शराब के नशे मे देवनाथ अगरिया के घर के सामने शोर-शराबा करते हुए गाली-गलौज करने लगे. रात्रि के समय घर के बाहर शोर सुनकर प्रार्थी देवनाथ अगरिया की पत्नी यशोमति अगरिया बाहर आकर उनसे निवेदन करती है कि घर के सामने ऐसा शोर शराबा मत करिए ।

आदिवासी महिला की ये बात विधायक-पुत्र को नागवार गुजरी और आरोप है कि उसने अपने साथियों के साथ मिल के उस परिवार को गांववालों के सामने ही घसीट-घसीट कर मारा. विधायक-पुत्र की शिकायत लेकर ग्रामवासी थाने गए थे लेकिन पुलिस ने उनसे आवेदन लेके वापस कर दिया। इन आरोपियों पर किसी तरह की सख्त कार्यवाही ना होने से भी यह संदेश जा रहा है कि पार्टी से जुड़े नेताओं के बिगड़ैल बेटों को संरक्षण दिया जा रहा है.