First.flash एक और गैंगरैप, लड़की के हाथ और पैर भी तोड़े, अस्पताल ले जाते वक्त पीड़िता की मौत, दोनों आरोपी गिरफतार, एक फरार

First.flash एक और गैंगरैप, लड़की के हाथ और पैर भी तोड़े, अस्पताल ले जाते वक्त पीड़िता की मौत, दोनों आरोपी गिरफतार, एक फरार

बलरामपुर. हाथरस के बाद अब उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले में भी दलित युवती के साथ गैंगरेप हुआ। यहां अनुसूचित जाति की एक लड़की के साथ दो युवकों ने दुष्कर्म किया। आरोपियों ने वारदात को ऐसे वहशीपन से अंजाम दिया कि पीड़िता की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई।

बलरामपुर के पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा ने कहा कि घटना जिले के गैसड़ी क्षेत्र में हुई जहां 22 वर्षीय दलित लड़की एक निजी कंपनी में काम करती थी। मंगलवार की शाम जब वह समय पर घर नहीं पहुंची तब उसके माता-पिता ने उसकी तलाश शुरू की। पुलिस ने कहा कि लड़की के माता- पिता ने बताया कि लड़की बाद में एक ऑटो रिक्शा से घर पहुंची। वर्मा ने कहा कि लड़की की हालत गंभीर थी और उसके माता-पिता उसे अस्पताल ले जाने लगे लेकिन रास्ते में लड़की की मौत हो गई।

उन्होंने कहा कि अस्पताल से मामले की सूचना पुलिस को मिलने के बाद माता- पिता ने आरोप लगाया कि लड़की के साथ सामूहिक बलात्कार किया गया था। शिकायत के आधार पर पुलिस ने शाहिद और साहिल नाम के दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। गौरतलब है कि बलरामपुर की यह वारदात ऐसे समय में सामने आई है जब प्रदेश के हाथरस जिले में दलित युवती के साथ हुए गैंगरेप और हत्या का मामला गर्म है।

दरअसल, हाथरस जिले में गत 14 सितंबर को कथित रूप से सामूहिक बलात्कार और गला दबाये जाने की घटना की शिकार हुई 19 वर्षीय दलित लड़की ने मंगलवार सुबह दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया था। जिसके बाद पीड़िता के घरवालों ने पुलिस पर युवती का जबरन अंतिम संस्कार करने का आरोप लगाया।

हाथरस जिले की इस वारदात ने प्रशासन से लेकर शासन तक के हाथे की शिकन बढ़ा दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात की। इस दौरान पीड़िता के पिता ने आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त सजा की मांग की। सीएम ने पीड़िता के पिता को भरोसा दिलाया कि आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी और परिजनों को हरसंभव सहायता दी जाएगी।