breaking news New

पूर्व सांसद पप्पू यादव ने कहा -नीतीश कोरोना संक्रमित कर मुझे मरवाना चाहते हैं

पूर्व सांसद पप्पू यादव ने कहा -नीतीश कोरोना संक्रमित कर मुझे मरवाना चाहते हैं

पटना। बिहार में  मंगलवार को जन अधिकार पार्टी के प्रमुख और पूर्व सांसद पप्पू यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. आरोप है कि पप्पू यादव ने कोरोना काल में लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन किया है.

लेकिन बीते दिनों में पप्पू यादव और राज्य सरकार के बीच तनातनी बढ़ी है, ऐसे में अब गिरफ्तारी होने पर राजनीतिक तापमान बढ़ गया है.

गिरफ्तारी के बाद पप्पू यादव ने भी ट्वीट किया है और राज्य सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि नीतीश जी, प्रणाम. धैर्य की परीक्षा न लें. अन्यथा जनता अपने हाथों में व्यवस्था लेगी,तो आपका प्रशासन सारा लॉकडाउन प्रोटोकॉल भूल जाएगा.
 
इस ट्वीट के बाद पप्पू यादव ने एक और ट्वीट किया. इस बार उन्होंने लिखा, सरकारों को कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने की तैयारी करनी चाहिए तो पप्पू यादव से लड़ रहे हैं. पूरे बिहार में मामला खोज रहे हैं, कैसे फंसाकर अपनी नाकामी छुपाएं.

पप्पू यादव की गिरफ्तारी के विरोध में बिहार और देश के कई बड़े नेताओं ने अपना बयान जारी किया है और राज्य की नीतीश सरकार पर निशाना साधा है. सिर्फ नीतीश सरकार के विरोधी ही नहीं बल्कि उनके साथी भी इस मसले पर पप्पू यादव का समर्थन करते हुए नज़र आ रहे हैं.

बिहार सरकार में मंत्री रहे और लालू यादव के बेटे तेज प्रताप यादव ने इस मसले पर राज्य सरकार को घेरा. तेज प्रताप ने ट्वीट किया कि यहां पर चोरी करने वाले को गिरफ्तार किया जाता है, जबकि सीएम आवास में इफ्तारी होती है.

बिहार के ही कीर्ति आज़ाद ने भी पप्पू यादव पर एक्शन लिए जाने का विरोध किया. कीर्ति आज़ाद ने ट्वीट में लिखा कि पप्पू यादव डबल इंजन सरकार की पोल खोल रहे हैं, इसलिए उनपर ऐसा एक्शन लिया जा रहा है.

सिर्फ विरोधी ही नहीं, बल्कि बिहार की एनडीए सरकार में साझेदार भी इस गिरफ्तारी पर सवाल खड़े कर रहे हैं. हिन्दुस्तान आवाम मोर्चा के जीतन राम मांझी ने ट्वीट कर पप्पू यादव की गिरफ्तारी का विरोध किया है. जीतन राम मांझी ने लिखा है कि अगर कोई जनप्रतिनिधि दिन रात लोगों की सेवा करे, फिर भी उसे गिरफ्तार किया जाए तो मानवता के विरोध में उठाया गया कदम है.

इतना ही नहीं, राजीव प्रताप रूडी की गिरफ्तारी की मांग को लेकर आज राजद नेता केदार प्रसाद यादव ने मुंडन करवाया और कहा कि जब तक राजीव प्रताप रूडी पर देशद्रोह का मुकदमा नहीं चलेगा, तबतक आंदोलन जारी रहेगा.