breaking news New

नाम बदलने से क्या इतिहास बदल जाता है - दिग्विजय

नाम बदलने से क्या इतिहास बदल जाता है - दिग्विजय

मंडला।  कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने भोपाल के हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम रानी कमलापति के नाम पर करने के सिलसिले में आज कहा कि क्या नाम बदलने से इतिहास बदल जाता है।

राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने आदिवासी बहुल मंडला जिला मुख्यालय पर कांग्रेस के जन जागरण अभियान की शुरूआत के अवसर पर पत्रकारों से चर्चा के दौरान एक सवाल के जवाब में यह टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि स्टेशन का नाम रानी कमलापति के नाम पर रखा गया, इसमें उन्हें कोई आपत्ति नहीं है। क्या नाम बदलने से इतिहास बदलता है। 

लेकिन यह भी विचारणीय है कि क्या राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रानी कमलापति के सीहोर जिले में स्थित जर्जर किले को दुरुस्त कराया है। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि दरअसल यह सब केवल नाटक, नौटंकी और धोखा के अलावा कुछ नहीं है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने एक सवाल के जवाब में कहा कि वे कंगना रनौत के बारे में कोई बात नहीं करना चाहते हैं। सब जानते हैं कि कंगना रनौत क्या है। एक अन्य सवाल के जवाब में दिग्विजय सिंह ने कहा कि कांग्रेस को राज्य में जनता अपना मत देती है, लेकिन भाजपा के लोग हमारे विधायक को खरीद लेते हैं और सरकार बना लेते हैं।

दिग्विजय सिंह ने राज्य में जन जागरण अभियान की शुरूआत आज यहां से की, जिसके तहत वे मुख्य रूप से आम लोगों से चर्चा और संवाद के जरिए महंगायी और केंद्र सरकार की 'जनविरोधी' नीतियों के बारे में चर्चा करेंगे। श्री सिंह इस दौरान पदयात्रा भी करेंगे और रात्रि विश्राम गांवों में करेंगे। यह अभियान 15 दिनों तक चलेगा।

दिग्विजय सिंह ने इस दौरान मीडिया से कहा कि मंडला जिला कभी शांतिप्रिय इलाका कहलाता था, लेकिन अब ये माफियाओं का अड्डा बन गया है। यहां पर नशीले पदार्थ बिक रहे हैं।

 उन्होंने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि स्थानीय पुलिस प्रशासन असामाजिक तत्वों से मिला हुआ है। उन्होंने यहां कुछ हत्याओं के मामले उठाते हुए कहा कि इनमें प्रभावी लोग शामिल हैं और पुलिस प्रशासन ने आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की।