breaking news New

वेतन अप्राप्त, संग्रहण कर्मियों ने किया आंदोलन, प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी , अनलोडिंग सहित कई कार्य प्रभावित

वेतन अप्राप्त, संग्रहण कर्मियों ने किया आंदोलन, प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी , अनलोडिंग सहित कई कार्य प्रभावित

महासमुंद।  समय पर वेतन भुगतान नहीं होने से नाराज संग्रहण केन्द्र कर्मी गुरुवार को एक बार फिर से मोर्चा खोलते हुए संग्रहण केन्द्र में ही धरने पर बैठ गए। कर्मियों ने प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए वेतन भुगतान सहित अन्य मांगें पूर्ण करने मांग रखी।

आंदोलनरत कर्मियों ने बताया कि पिछले जुलाई माह का वेतन अभी तक अप्राप्त है जबकि अगस्त माह बीतने को है। उनका कहना है कि कुछ दिन बाद रक्षाबंधन पर्व है और वेतन नहीं मिलने की वजह से उन्हें आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कर्मियों ने बताया कि जब से वे यहां कार्य कर रहे हैं उन्हें कभी भी समय पर वेतन नहीं मिला है। हर बार आंदोलन करने पर उन्हें केवल आश्वासन दिया जाता है और वेतन नहीं मिलता जिसके कारण उन्हें आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ता है। कर्मियों ने बताया कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होगी तब तक वे आंदोलनरत रहेंगे। धरने में प्रमुख रुप से कुशल अकुशल कर्मचारी संघ जिलाध्यक्ष राजेश मदनकार, उपाध्यक्ष प्रकाश चंद्राकर, सतीश जाधव, राजेश चौहान, डंपू चौहान, राजेन्द्र यादव दिव्येश सिंह समेत अन्य कर्मचारी मौजूद थे।

ईपीएफ और स्वास्थ्य बीमा की जानकारी नहीं

अंादोलनरत कर्मियों में शामिल राजेश मदनकार ने बताया कि उनके खाते से ईपीएफ और स्वास्थ्य बीमा के नाम पर प्लेसमेंट कंपनी द्वारा राशि काटी जा रही है। लेकिन इसकी जानकारी उन्हें नहीं दी जा रही है। उनका कहना है कि कंपनी द्वारा पहले 26 दिन के हिसाब से राशि जमा की जा रही थी, पर अब 13 दिन के हिसाब से राशि जमा की जा रही है। वहीं स्वास्थ्य बीमा के नाम पर राशि जमा होने के बाद भी लाभ नहीं मिल रहा है। दुर्घटना होने पर स्वयं के खर्च से इलाज कराते हंै। इसलिए उन्होनेंं इसकी जानकारी मांगी है।

मांगें पूरी नहीं हुई तो कल से जिलेभर में आंदोलन

कर्मियों ने बताया कि आज उनकी मांग पूरी नहीं होती है तो कल से जिले के सभी संग्रहण केन्द्र कर्मी मांगों को लेकर धरने पर चले जाएंगे। इसके लिए कर्मियों से बातचीत कर ली गई है।