breaking news New

राजस्व विभाग एवं गौरी शंकर मंदिर के सुधार लिए के मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा

राजस्व विभाग एवं गौरी शंकर मंदिर के सुधार लिए के मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा

रायगढ़। छत्तीसगढ़ चेंबर ऑफ कॉमर्स रायगढ़ इकाई ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मुलाकात कर रायगढ़ की मूलभूत जन समस्याओं का निराकरण के लिए ज्ञापन सौंपा एवं नए वर्ष की मुख्यमंत्री को बधाई दी चेंबर आफ कॉमर्स के जिलाध्यक्ष राजेंद्र अग्रवाल एक्शन कमेटी के चेयरमैन बजरंग अग्रवाल रायगढ़ जिला महामंत्री हीरा मोटवानी प्रदेश मंत्री राजेश अग्रवाल ने सर्किट हाउस में मिलकर मुख्यमंत्री जी से आम जनता सबसे ज्यादा किसी डिपार्टमेंट से दुखी है तो वह है राजस्व बिना  10 हजार खर्चा किए बिक्री नकल बनती है!

नामंत्रण होता है सीमांकन होता है न b1 खसरा नक्शा का बटाकन होता है हर जगह गांधी छाप देने पड़ते हैं उसके बाद भी महीनों चक्कर लगाने के बाद काम नहीं हो पाता मुख्यमंत्री जी से निवेदन किया कि रजिस्ट्री करते समय ही रजिस्ट्रार के द्वारा नामांतरण की प्रक्रिया कर दी जाए तो तहसील ऑफिस के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे मुख्यमंत्री जी ने सहमति देते हुए कहा कि जब सब कार्य ऑनलाइन हो गया तो रजिस्ट्री पंजी एक ही नामांतरण कर सकता है .

चेंबर के इस सुझाव को मुख्यमंत्री ने आम जनता की सुविधा के लिए बहुत अच्छा सुझाव माना और कहा कि मैं तत्काल इस पर कुछ ना कुछ अच्छा निर्णय लूंगा दूसरा चेंबर ऑफ कॉमर्स में रायगढ़ में ऐतिहासिक गौरी शंकर मंदिर के जीर्णोद्धार रंग पुताई बिजली सभी समस्त समस्याओं के लिए एवं महीनों में ट्रस्ट के पास होने वाली इनकम मानव सेवा के लिए खर्चा हो उसके लिए भी चर्चा की गई मुख्यमंत्री  ने इस पर भी उचित निर्णय लेने का आश्वासन दिया चेंबर ऑफ कॉमर्स और कई बिंदुओं पर मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया जैसे मेडिकल कॉलेज का कार्य तत्काल पूर्ण करने एवं केलो बांध से नहरों में पानी खेतों तक पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री से निवेदन किया गया एवं रायगढ़ में बढ़ते प्रदूषण से उद्योगों को 24 घंटे यस पी चलाने एवं एसपी का अलग मीटर उद्योग लगाएं जिससे कि रायगढ़ की जनता को यह पता चल सके कि उद्योगों के द्वारा एसपी 24 घंटे चलाई जा रही है !

चेंबर ऑफ कॉमर्स के राजेंद्र अग्रवाल बजरंग अग्रवाल हीरा मोटवानी राजेश अग्रवाल ने मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया कि चेंबर ऑफ कॉमर्स की बातों को ध्यान से सुनकर निराकरण करने का आश्वासन दिया।