breaking news New

रामनगर में चोरी की नियत से सीट तोड़कर दुकान में घुसे दो नाबालिग, 8 घंटे बाद भी 5 किलोमीटर नहीं पहुंच पायी पुलिस

रामनगर में चोरी की नियत से सीट तोड़कर दुकान में घुसे दो नाबालिग, 8 घंटे बाद भी 5 किलोमीटर नहीं पहुंच पायी पुलिस

सूरजपुर, 5 फरवरी। घटना विश्रामपुर थाना क्षेत्र के ग्राम रामनगर की है जहां बीती रात चोरी की वारदात होने से बच गई दो नाबालिग चोरी करने की नियत से मोबाइल दुकान का सीट तोड़कर अंदर घुसे थे, लेकिन अपने मंसूबे पर कामयाब नहीं हो पाए और रंगे हाथ पकड़े गए इसकी सूचना पुलिस को देर रात में ही दे दी गई, लेकिन कोई पुलिसकर्मी मौके पर नहीं पहुंचा इसकी वजह से दोनों नाबालिग को ग्रामीणों में रात भर बंदी बनाकर रखा। 

जानकारी के अनुसार ग्राम रामनगर में संचालित नीलेश टेलीकॉम और मोबाइल दुकान में बीती रात करीब 12:30 बजे गांव के ही दो नाबालिग (उम्र करीब 9 वर्ष और 1 की 12 वर्ष ) दुकान के पीछे बॉस का  सीढ़ी लगाकर चढ़े फिर ऊपर किसी टूटकर साड़ी के सहारे दुकान के अंदर घुस गए इसी दौरान दुकान में रात को सोने के लिए एक व्यक्ति आया जिसने जैसे ही दुकान का शटर उठाया तो अंदर का नजारा देख हैरान रह गया दुकान का सीट टूटा हुआ और अंदर दो नाबालिग मिले । 

इस मामले की सूचना तत्काल आस पास मोहल्ले वालों को दी गयी देखते हीं देखते दुकान में काफी भींड इकट्टठा हो गयी । घटना की सूचना रामअवतार द्वारा सबसे पहले बीट प्रभारी एएसआई सोहन सिंह को देनी चाही लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया बाद में कुछ अन्य पुलिसकर्मियों को सूचना दिया गया इस पर एक पुलिसकर्मी ने कहा कुछ देर बाद पहुंचते हैं लेकिन रात से सुबह हो गई वहीं पुलिस वाला नहीं पहुंचा रात भर ग्रामीणों ने दोनों नाबालिग को अपने कब्जे में रखा


सुबह जब मामले की सूचना फिर से पुलिस के अधिकारियों को दी गई तब कहीं सुबह 10:00 बजे थाना से 2 पुलिसकर्मी आए और दोनों नाबालिग को अपने साथ लेकर गए लेकिन रात में कई बार सूचना दिए जाने के बाद भी मौके पर कोई पुलिसकर्मी के नहीं पहुंचने से विश्रामपुर पुलिस की सक्रियता पर सवाल उठने लगे हैं आखिर चोरी जैसे गंभीर मामले में पुलिस ने सक्रियता क्यों नहीं दिखाई।

जानकारी के मुताबिक ग्रामीणों ने जिन दो नाबालिग को पकड़ा था वह पहले भी चोरी के आरोप में पकड़े जा चुके हैं लेकिन उनके भविष्य को देखते हुए समझाइश देकर छोड़ दिया गया था लिहाजा लगातार दो बार चोरी करते पकड़े जाने के बाद इस बार दोनों को पुलिस के हवाले कर दिया गया है । 

गौरतलब है कि रामनगर में इन दिनों चोरों की चहलकदमी तेज होने लगी है अभी कुछ दिनों पहले रामनगर सेंट्रल बैंक में चोरी की कोशिश एक ग्रामीण के घर में धान चोरी जैसे मामले सामने आए हैं और ऐसे मामलों में पुलिस सक्रियता नहीं दिखाएगी तो इस घटना को गंभीरता से नहीं लिया गया तो आने वाले समय में रामनगर में चोरी की घटना आम हो जाएगी  ।