breaking news New

कोविड-19 के लिए खर्च करने शासन-प्रशासन से मांगी अनुमति : ऑक्सीजन व दवाइयों की कमी से तड़पते देखना दुखदायी

 कोविड-19 के लिए खर्च करने शासन-प्रशासन से मांगी अनुमति : ऑक्सीजन व दवाइयों की कमी से तड़पते देखना दुखदायी

प्रदेश  में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है। मरीजों की बढ़ती संख्या प्रदेश के लिए घातक है। लगातार मरीजों की संख्या उम्मीद से ज्यादा बढ़ रहे है, जिससे स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा रही है। कोविड-19 संक्रमित मरीजों के बढ़ने से स्वास्थ्य विभाग पर लगातार दबाव बढ़ता जा रहा है। दबाव बढ़ने से संक्रमित मरीजों को समय पर स्वास्थ्य सुविधा नहीं मिल पाती है। वर्तमान समय में संक्रमित मरीजों को ऑक्सीजन और दवाई समय पर उपलब्ध कराना नितांत आवश्यक है।

जिला पंचायत सभापति एवं भाजपा सहकारिता प्रकोष्ठ के अध्यक्ष राहुल योगराज टिकरिहा ने बेमेतरा जिलाधीश शिव अनंत तयाल जी और मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत रीता यादव को पत्र लिखकर 15वें वित्त द्वारा जारी अपनी जिला पंचायत निधि को बेमेतरा जिला में ऑक्सिजन व कोविड-19 दवाई सेंटर स्थापित कर खर्च करने की अनुमति मांगी है।

जिला पंचायत सभापति टिकरिहा ने पत्र में लिखा है मैं राहुल टिकरिहा जिला पंचायत सभापति, जिला पंचायत सदस्य क्षेत्र क्रं.13, महोदय जी सरकार द्वारा जिला पंचायत निधि में 15 वें वित्त की राशि भेजी गई है। जिसे खर्च करने के लिए जिला पंचायत के सामान्य सभा में प्रपोजल भी मांगा गया था। प्रपोजल भी दे दिया गया है। कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप और लॉकडाउन के मद्देनजर जिला पंचायत की बैठक नहीं हो पाई है। जिसके कारण उक्त राशि अभी तक खर्च नहीं हुआ है।

महोदय जी इस संकटकाल में हमें सबसे ज्यादा जरूरत ऑक्सीजन और कोविड-19 की दवाइयों की है। वर्तमान समय में कोविड-19 दिनों दिन भयावह रूप लेता जा रहा है। कोविड-19 कि रोकथाम के लिए आप लोगो के द्वारा किए जा रहे कार्य बेहद सराहनीय है।

महोदय जी विषयान्तर्गत आपसे विनम्र आग्रह है कि कोविड-19 से पीड़ित नागरिकों के ईलाज के लिए अस्पतालों में ऑक्सीजन और दवाई की कमी हो रही है साथ ही बाजारों में भी ऑक्सीजन की कमी है और दवाईयों की कालाबाजारी हो रही है। अनेक जगहों पर किम्मत से अधिक मूल्य में दवाई बेची जा रही है। इस कमी को थोड़ा दूर करने के लिए मेरे जिला पंचायत निधि से जो राशि मुझे अपने क्षेत्र के विकास कार्यों के लिए प्राप्त होने वाले है। मैं उक्त राशि को खर्च करते हुए एक ऑक्सीजन और दवाई सेंटर बनाना चाहता हूं, जहां से आम नागरिकों और अस्पताल में भर्ती व होम कोरेन्टीन में रह रहे मरीजों को ऑक्सिजन और दवाई की उपलब्धता हो सके।

वर्तमान समय को देखते हुए अस्पताल के साथ-साथ ऑक्सिजन और दवाई हमारी प्रमुख प्राथमिकता है। अतः महोदय जी आपसे आग्रह है कि उक्त राशि को किस प्रकार से खर्च करते हुए ऑक्सीजन और दवाई सेंटर का निर्माण किया जा सके इस पर विचार करते हुए उक्त राशि को इस पर खर्च करने हेतु अनुमति व मार्गदर्शन प्रदान करें।

संक्रमितों को ऑक्सीजन सिंलेडर मिलने में मदद मिलेगी

इस राशि को खर्च कर ऑक्सीजन सिलेंडर भी मंगाया जाएगा। जिससे जरूरतमंदों को आसानी से सिलेंडर प्राप्त हो जाएगा। वर्तमान समय में सिलेंडर के अभाव में ही बहुत से नागरिक अपने परिवार से बिछड़ रहें है। ऑक्सीजन गैस के लिए ही अनेक व्यक्ति दर-दर भटकने को मजबूर हो जाते है। ऑक्सीजन गैस के आ जाने से संक्रमित मरीजों और उनके परिवारों को राहत मिल जाएगी।

कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए दवाई की उचित व्यवस्था

कोरोना संक्रमित मरीजों को जल्द ठीक करने का प्रथम उपाय समय में उन्हें दवाई उपलब्ध करवाना है। इस निधि की कुछ राशि को दवाई खरीदी के लिए उपयोग किया जाएगा। जिससे कोरोना संक्रमित मरीजों को किसी भी प्रकार से कोरोना की दवाई बाजार से लेने की आवश्यकता न पड़े और उन्हें आसानी से यह दवाई प्राप्त हो सके।

इम्यूनिटी बूस्टर खरीद कर टेस्ट करवाने आए और ग्रामीणों को भी बाटा जा सकता है

इस राशि में से योजना बनाकर कुछ राशि से शरीर में एमयूनिटी बढ़ाने के लिए एमयूनिटी बूस्टर खरीदा जाएगा। जिसे टेस्ट कराने आए हुए मरीजों को टेस्ट के बाद पॉजिटिव आए या निंगेटिव आए दोनों को दिया जा सकेगा। साथ ही जिस गांव में अधिक संक्रमित मरीज है उन गॉवो में भी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए बांटा जा सकेगा।

विकास कार्य तो बाद में भी हो सकते है, लेकिन अभी जो जरूरी है उसमें राशि खर्च करने अनुमति प्रदान करे तो लोगों के मदद में खर्च कर सकते है।-
राहुल योगराज टिकरिहा
सभापति- जिला पंचायत, बेमेतरा