अगले 72 घंटे के लिए राजधानी हुई लॉक, बाहर निकलने वाले खुद होंगे जिम्मेदार

अगले 72 घंटे के लिए राजधानी हुई लॉक, बाहर निकलने वाले खुद होंगे जिम्मेदार

रायपुर : 72 घंटों के लिए रायपुर शहर को पूर्ण लॉक डाउन किया गया है, हालात कर्फ्यू की तरह भले ही न रहे लेकिन सड़क पर निकलने वालों पर सख्त कार्रवाई करने की पूरी तैयारी की गई है। लेकिन जैसे ही लोगों को जानकारी मिली की अगले 72 घंटों के लिए  शहर को बंद किया जा रहा तो उसके पहले लोग सड़क पर निकल पड़े।


बाहर निकलने वालों पर हुई कार्रवाई 

आज सुबह से ही रायपुर की सड़कों पर मेले जैसा माहौल देखा जारहा था। जिसे देखते हए रायपुर कलेक्टर आईएएस भारती दासन और एसएसपी आरिफ शेख खुद भी सड़क पर अपना काफिला लेकर निकल पड़े और पुरे शहर के सभी उन इलाकों में जाकर लोगों को समझाया भी और जम कर कार्रवाई भी हुई। 


पुलिस ने दो डिवीजन में बाटी सुरक्षा व्यवस्था 

अगले 72 घंटों के दौरान पुलिस ने शहर की सुरक्षा को दो हिस्सों में बात दिया है। एक डिवीजन जो रिंग रोड इलाकों में तैनात है तो वहीं दुसरा शहर के भीतर के सभी प्रमुख चौक चौराहों पर सुरक्षा बधाई गई है। रिंग रोड पर दूसरे जिलों से रायपुर आने वालों को रोका जा रहा तो शहर के भीतर से बहार जाने वालों क साथ ही सड़क पर निकलने वालों के लिए टीम तैनात की गई हैं। 


रैंक के हिसाब से पोस्ट निर्धारित की गईं 

राजधानी के सभी आउटर इलाके सीएसपी संभल रहे तो शहर के प्रमुख अंदरूनी इलाकों को थानेदारों की देखरेख में रखा गया है वहीं चौक चौराहों से लेकर मोहल्ले कालोनी बस्तियों को अतिरिक्त निरीक्षक संभल रहे।  ऐसी बनाई गई है की शहर के भीतर परिंदा भी पर नहीं मार सकता है। लेकिन हर रोज सुबह सुबह सब्जी मंडियों में उमड़ती भीड़ को देखते हुए ये कहना अभी मुश्किल है की पूर्ण लॉक डाउन के दौरान क्या कुछ होता है। 



अगले 72 घंटे बहुत जयदा महत्वपूर्ण हैं लेकिन लोग गंभीर नजर नहीं आरहे इस लिए थोड़ी सख्ती बरती जा रही है, एम्स में भर्ती 16 में से छह को आज ही डिस्चार्ज किया गाय, 10 और बचे हैं, कोरबा को रेड जोन में रखा गाय है लेकिन रायपुर ऑरेंज  क्योंकि यहीं पर AIIMS में सभी पॉजिटिव मरीजों को रखा गया है, ऐसे में कोई दूसरे शहर में रायपुर न आने पाए या फिर कोई शहर से दुसरी जगहों पर जाने न पाए इसी लिए अगले 72 घंटों तक सुरक्षा सख्त की गई है। आईएएस एम् आर मांडवी, एडिशनल एसपी यातायात