breaking news New

जनधारा की खबर का बड़ा असर : सोसाइटी प्रबंधक की खुली पोल , जांच के दौरान खाद का अवैध भंडारण पाया गया

जनधारा की खबर का बड़ा असर : सोसाइटी प्रबंधक की खुली पोल , जांच के दौरान खाद का अवैध भंडारण पाया गया


खबर का बड़ा असर एक दिन पूर्व खबर प्रकशित की गई थी कि सोनहत प्रभारी प्रबंधक मनमानी करते हुए रामगढ सोसाइटी का खाद सोनहत सोसाइटी के गोदाम में डंप कराया गया है। जिसे स्थानीय प्रशासन ने तत्काल संज्ञान में लेते हुए  आदिम जाति सेवा सहकारी समिति सोनहत के गोदाम में प्रशासन की टीम जांच में पहुची थी। सोनहत अनुविभागीय अधिकारी प्रशांत कुशवाहा ने बताया कि मौके पर खाद का अवैध भंडारण पाया गया है जिसमे लगभग 200 बोरी डीएपी,100 बोरी के लगभग यूरिया खाद शामिल  है। जिसका पंचनामा तैयार कर अग्रिम करवाई के लिए संबंधित विभाग को भेजा जाएगा। जांच के दौरान अनुभाग की टीम समेत वार्ड पंच और सरपंच मौजूद रहे । खाद को प्रशासन टीम ने अपनी कस्टडी में रखा है।

यह थी खबर :- आदिम जाति सेवा सहकारी समिति के प्रबंधक की जारी है मनमानी रामगढ़ क्षेत्र के किसानों का खाद सोनहत गोदाम में कराया डंप

कोरिया - सोनहत खण्ड मुख्यालय स्थित आदिम जाति सेवा सहकारी समिति सोनहत के प्रभारी प्रबंधक की मनमानी विख्यात हो रही है एक नही कई मनमानी के आरोप के बाद भी प्रबंधक की कुर्सी पर विराजमान है सूत्रों से जो जानकारी प्राप्त हुई है उसके अनुसार रामगढ़ क्षेत्र के किसानों के लिए भेजा गया खाद सहकारी केंद्र रामगढ़ में नही पहुच सका है उसे 32 किलोमीटर दूर सहकारी केंद्र  सोनहत के गोदाम में रखा गया । जिससे वनांचल के किसानों को खाद आपूर्ति न के बराबर है । इसके पीछे की क्या वजह अभी तक सामने नही आई है। पर वनांचल क्षेत्र के किसानों की परेशानी कथिक तौर पर सुनाई दे रही है । रामगढ़ सहकारी सेवा केंद्र के प्रबंधक सोनहत प्रभारी के भाई है । इस ताल मेल का खामियाजा वनांचल क्षेत्र के किसानों को भुगतना पड़ रहा है। यह ही नही जानकर सूत्र बताते है कि रामगढ़ सहकारी सेवा केंद्र सोनहत प्रभारी के निर्देशन में संचालित हो रहा है । अधिकतर कार्य मे सोनहत प्रभारी का हस्तक्षेप होता है । यहाँ तक कि रामगढ़ प्रबंधक अपने कार्य क्षेत्र मुख्यालय से अकसर नदारत रहते है।  जिससे रामगढ़ वनांचल क्षेत्र के किसानों को संबंधित कई कार्यो के लिए परेसान होना पड़ता है । धान खरीदी,खाद की उपलब्धता को देखते हुए वनांचल क्षेत्र में सहकारी समिति केंद्र क्षेत्रीय विधायक गुलाब कमरो के अथक प्रयास से राज्य शासन ने खोल किसानों की समस्या का समाधान किया था । लेकिन अब जिम्मेदार सरकार की इस पहल को दरकिनार करते हुए पूर्व की भांति वनांचल के किसानों की समस्या को जिंदा रखा है। आवश्यकता है उच्य पद पर बैठे अधिकारियों को ऐसी समस्या खड़ा करने वाले जिम्मेदारों पर कड़ी लगाम लगाने की।