breaking news New

बाजारों में फिर दिखी भारी भीड़, 305 बिल्डिंग हुईं सील, 6 दिन में मिले 13 हजार केस

बाजारों में फिर दिखी भारी भीड़, 305 बिल्डिंग हुईं सील, 6 दिन में मिले 13 हजार केस

मुंबई ।  कोरोना ने एक बार फिर से देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में हलचल मचा दिया है। बीते दिन शुक्रवार की बात करें तो, अकेले मुंबई में ही कोरोना वायरस के 3 हजार नए मरीज मिले हैं, जो कि इस महामारी के शुरुआत होने के पश्चात सबसे अधिक है। बृहन्मुंबई नगरपालिका के अनुसार, 14 मार्च से लेकर 19 मार्च के बीच केवल मुंबई में ही कोरोना वायरस के 13 हजार 912 नए मामलों की पुष्टि हुई है।

मुंबई में कोरोना का कहर इस कदर बढ़ रहा है कि जिसके चलते 305 इमारतें सील की जा चुकी हैं। बताते चलें कि कोरोना मामलों में बढ़ोतरी होने के बावजूद मुंबई के शिवाजी पार्क और दादर की सब्जी मंडी में लोग बिना मास्क पहने और सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करते हुए नजर आए। इस बीच महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने लोगों को जल्द से जल्द कोविड-19 टीका लगवाने की अपील की है।

उन्होंने लोगों से कहा कि इसके दुष्प्रभावों को लेकर अफवाहों पर ध्यान नहीं दें। उन्होंने आगे कहा कि टीका सुरक्षित है और इसे लगवाना आवश्यक है। गुरुवार को जारी आंकड़े के अनुसार 16 जनवरी को टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद से महाराष्ट्र में अब तक 36,39,989 लोगों को टीका लगाया जा चुका है। वहीं देश में कुल 4,20,63,392 लोगों को कोरोना वायरस की वैक्सीन लगाई गई है।

भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 40,953 नए मामले आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 1,15,55,284 हो गई है। वहीं आकंड़ों के अनुसार पिछले 6 दिनों में मुंबई में 13,912 नए केस सामने आए हैं। इसी के साथ पिछले छह दिनों में कंटेनमेंट जोन और बिल्डिंग सील करने के मामलों में भी उछाल आया है। 13 मार्च को मुंबई में 31 एक्टिव कंटेनमेंट जोन और 220 सील बिल्डिंग थी। जबकि 18 मार्च को ये आकंड़ा बढ़कर 34 कंटेनमेंट जोन और 305 सील बिल्डिंग तक पहुंच गया।

वहीं दूसरी ओर कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए बीएमसी ने सख्ती करने का फैसला ले लिया है। बीएमसी ने मुंबई के सभी शॉपिंग मॉल्स को निर्देश जारी किए है कि बिना कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट के मॉल्स में किसी को एंट्री नहीं दी जाए। इसी के साथ मॉल्स में एंट्री की जगह पर रैपिड एंटीजन जांच की व्यवस्था करने के लिए भी कहा है। वीकेंड पर बढ़ती भीड़ को देखते हुए बीएमसी ने ये फैसला लिया है।