'जनधारा के सवाल पर बोले सीएम, 'फेक खबरों पर नजर रखने के लिए बनाई टीम, वीडियो कांफ्रेंसिंग से की पत्रकार—वार्ता

'जनधारा के सवाल पर बोले सीएम, 'फेक खबरों पर नजर रखने के लिए बनाई टीम, वीडियो कांफ्रेंसिंग से की पत्रकार—वार्ता

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि कोरोना.काल में लाकडाउन के दौरान बहुत सी फेक खबरें सोशल मीडिया, प्रिंट मीडिया और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में चल रही हैं. ऐसी खबरों पर नजर रखने के लिए हमने एक टीम बनाई है जो अपना काम कर रही है और बेहतर परिणाम भी मिल रहे हैं.

श्री बघेल ने दैनिक आज की जनधारा के प्रधान संपादक सुभाष मिश्र द्वारा उठाए गए सवाल का जवाब देते हुए यह बात कही. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पत्रकारों से बातचीत की. उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा जारी आदेशों को लोगों तक पहुंचाने के लिए इलेक्ट्रानिक और प्रिंट मीडिया ने अहम भूमिका निभाई है, इसके लिए मैं मीडिया का धन्यवाद करता है। स्वास्थ्य विभाग ने अच्छा काम किया है, सामाजिक संगठनों ने अच्छा काम किया। छत्तीसगढ़ सरकार ने लॉकडाउन को देखते हुए सारी व्यवस्थाए कर रखी हैं। गरीबों को अनाज की व्यवस्था की गई। लगभग लॉकडाउन समाप्ति को ओर है। फिर भी हम व्यवस्था बनाए हुए हैं। इक्का-दुक्का हितग्राहियों के अलावा कोई शिकायत नहीं मिली।
 
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पत्रकारों के कई सवालों के जवाब दिए. उन्होंने कहा कि अनुचित क्षेत्रों में अभी महुआ बिनने का काम चल रहा है, हॉट बाजार बंद होने से उसके विक्रय में समस्या आ रही है जिसे वन विभाग द्वारा खरीदीकर उनकी समस्या का समाधान किया जा रहा है। इसके लिए स्व सहायता समूह भी अपना योगदान दे रहे हैं। समर्थन मूल्य पर ये खरीदी हो रही है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि नगरीय क्षेत्रों में लॉकडाउन की स्थिति बेहतर रही, शासन की ओर से सारी सुविधाएं आम जनता को दी जा रही हैं. मुख्य रूप से छत्तीसगढ़ में सौ प्रतिशत लॉकडाउन नहीं रहा। छत्तीसगढ़ वैसे तो पूरी तरह से लॉकडाउन नहीं रहा क्योंकि जरूरत के सामानों के लिए सब्जी मिल रही थी, दवाई दुकानें खुली रहीं। किसानों के लिए खाद-बीज के दुकान खोले गए। शहरी क्षेत्रों की अपेक्षा ग्रामीणों क्षेत्रों में जबर्दस्त लॉकडाउन रहा. ग्रामीणों इसको लेकर ज्यादा जागरुक दिखे। इससे ये साबित होता है कि ग्रामीण व्यवस्था आज मजबूत है लेकिन अभी जो कटघोरा की घटना हुई है, वहां सौ फीसदी लॉकडाउन है।