breaking news New

युकां अध्यक्ष का चुनाव आज से प्रारंभ, जिलाध्यक्ष के लिए अमन, बादल समेत 16 मैदान में

युकां अध्यक्ष का चुनाव आज से प्रारंभ, जिलाध्यक्ष के लिए अमन, बादल समेत 16 मैदान में

महासमुंद। युवक कांग्रेस प्रदेश व जिला पदाधिकारियों का चुनाव आज से आगामी 12 जून तक होगा। सभी प्रत्याशी विजय हासिल करने के लिए पुरजोर मेहनत कर रहे हैं। जिलाध्यक्ष के लिए वर्तमान अध्यक्ष अमन चंद्राकर ने फिर से दावेदारी प्रस्तुत की है वहीं युकां महामंत्री जसमीत सिंह बादल मक्कड़ के अलावा कुल 16 और प्रदेश महासचिव के लिए पूर्व युकां पदाधिकारी व पार्षद निखिलकान्त साहू भी मैदान में है। इसी तरह महासमुंद विधानसभा अध्यक्ष के लिए 6, खल्लारी से 19, बसना से 9 और सरायपाली से 3 भाग्य आजमा रहेे हैं। जानकारी के अनुसार चुनाव आज सुबह 8 बजे से प्रारंभ हुआ है जो आगामी 12 जून तक चलेगा। आगामी 20 जून तक प्रदेश सहित जिले में युवाओं द्वारा चुनी हुई नई कार्यकारणी आएगी। युकां चुनाव को आगामी 2024 में होने वाले विधानसभा, लोकसभा, निकाय और पंचायत चुनाव को लेकर भी काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। बता दें कि इससे पूर्व चुनाव बैलेट के माध्यम से होता था।

ऑनलाइन हो रहा चुनाव, एक माह तक करेंगे मतदान

जानकारी के मुताबिक युकां चुनाव के लिए इस बार चुनाव में मतदान ऑनलाइन होगा। इसके लिए एक पोर्टल बनाया गया है जिसमें मतदान करने के लिए लिंक दिया गया है। जिसमें प्रत्याशियों द्वारा बनाए गए नए सदस्य मतदान करेंगे। सदस्य सभी पदों पर बारी-बारी से मतदान करेंगे।

सदस्य बना ली बैठक : बादल

जिलाध्यक्ष प्रत्याशी जसमीत सिंह बादल मक्कड़ चुनाव में जीत दर्ज करने के लिए पिछले एक माह से लगे हुए हैं। वे न सिर्फ युकां में नए सदस्य बना रहे बल्कि जीत के बाद किए जाने वाले कार्यों की जानकारी भी दे रहे हैं। चुनाव को लेकर उन्होंने जिले का भी दौरा किया है जिसमें युवाओं से उन्हें अच्छा रिस्पांस मिला है।

जीत निश्चित, मुझे भरोसा : अमन

वर्तमान जिलाध्यक्ष अमन चंद्राकर का कहना है कि उनके पिछले कार्य के आधार पर युवा उन्हें एक बार फिर से जीत दिलाएंगे। जीत उनकी निश्चित और कार्यकर्ताओं के साथ नए युवा सदस्यों पर पूरा भरोसा है। चुनाव का जो भी परिणाम हो वे चुनाव से पूर्व भी सक्रिय रहे हैं और भविष्य में भी सक्रिय रहेंगे।

जिले के बाद प्रदेश में कार्य करने मिलेगा मौका: निखिल

पूर्व युकां पदाधिकारी और पार्षद निखिलकांत साहू का कहना है कि वे जिले में बतौर पदाधिकारी कार्य कर चुके हैं। उनकी इच्छा प्रदेश स्तर पर कार्य की है जिसके लिए उन्होंने महासचिव पद के लिए दावेदारी पेश की है। जीतने पर उन्हें प्रदेश में कार्य करने का मौका मिलने के साथ ही सीखने का भी मौका मिलेगा।  

सोशल मीडिया में किया प्रचार

इस बार चुनाव ऑनलाइन होने से प्रत्याशियों को चुनाव के लिए ज्यादा खर्च नहीं करना पड़ा। प्रचार के लिए प्रत्याशियों ने सोशल मीडिया का सहारा लिया। प्रचार के लिए व्हॉटसऐप, फेसबुक, इंस्टाग्राम और अन्य सोशल मीडिया सबसे बड़ा माध्यम बना जिसमें प्रतिदिन प्रचार-प्रसार कर वोट मांगा गया।