breaking news New

कोरोना वायरस के साथ-साथ आने वाले समय में झेलना पड़ेगा ठंड का कहर

कोरोना वायरस के साथ-साथ आने वाले समय में झेलना पड़ेगा ठंड का कहर

बिलासपुर।  दीपावली तो हो गई लेकिन ठंड का कहर अभी बाकी  है। कोरोना वायरस से लोग वैसे भी हाहाकार मचा हुआ है। प्रदुषण भी अपने चरम सीमा में है।  बिलासपुर में दस साल के भीतर न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस के नीचे कभी नहीं पहुंचा। वर्ष 2009 में 30 नवंबर को 9.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। अच्छी बारिश के बाद इस वर्ष संभावना है, कि तापमान में तेजी से गिरावट आएगी। मौसम विभाग के आंकड़ों कि मानें तो द्वितीय पखवाड़े में तापमान 11 से 16 डिग्री के बीच रहा है।

मौसम में  48 घंटे पहले 18.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। मौसम विभाग ने एक चक्रीय चक्रवाती घेरा दक्षिण पूर्व बिहार के ऊपर 3.1 किलोमीटर ऊंचाई पर स्थित होने की जानकारी दी थी। 

पेंड्रारोड का तापमान 17.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। प्रदेश में यह सबसे न्यूनतम तापमान है।  इस वर्ष भी ऐसा ही प्रतीत हो रहा है। क्योंकि पहले पखवाड़े में ही छह नवंबर को न्यूनतम तापमान 11.6 डिग्री तक पहुंच गया था। हालांकी इसके बाद तापमान 15 से उपर ही है। मौसम विभाग के दस साल के आंकड़े यह बता रहा है कि 17 नवंबर के बाद ठंड बढ़ने लगती है।

मेडिसीन विशेषज्ञ डा.सत्येंद्र जायसवाल के मुताबिक मौसम में बदलाव होने के दौरान गरिष्ठ भोजन करने से दूर रहना चाहिए। गर्म पानी पीने व बासी भोजन नहीं खाने की सलाह दी है। सर्दी, खांसी में लापरवाही ना बरतें। पास के स्वास्थ्य केंद्र में जांच कराएं। बिना डाक्टर को दिखाए कोई भी दवाइयां ना लें। नियमित एक्सरसाइज करें।

शहर अधिकतम न्यूनतम

बिलासपुर 32.4 19.2

पेंड्रारोड 31.5 17.8

अंबिकापुर 28.7 18.0

रायपुर 33.5 21.1

जगदलपुर 30.8 18.7

दस साल में न्यूनतम तापमान (नवंबर)

वर्ष दिनांक न्यूनतम तापमान

2019 26 नवंबर 15.5

2018 25 नवंबर 12.5

2017 26 नवंबर 11.4

2016 23 नवंबर 11.2

2015 27 नवंबर 15.4

2014 20 नवंबर 11.1

2013 14 नवंबर 11.2

2012 17 नवंबर 11.3

2011 17 नवंबर 13.4

2010 23 नवंबर 12.0