breaking news New

भारत पहुंचे तीन और राफेल विमान, अब हमारे पास ऐसे 14 लड़ाकू विमान

भारत पहुंचे तीन और राफेल विमान, अब हमारे पास ऐसे 14 लड़ाकू विमान

नई दिल्ली। फ्रांस से निकले तीन राफेल लड़ाकू विमान बुधवार रात भारत पहुंच गए. ये राफेल गुजरात के जामनगर एयरबेस पर उतरे. न्यूज एजेंसी पीटीआई ने इस बात की जानकारी दी. ये लड़ाकू विमान अंबाला में गोल्डन एरो स्क्वॉड्रन का हिस्सा होंगे. इन तीन राफेल के भारत आते ही अब हमारे पास 14 ऐसे लड़ाकू विमान हो गए हैं. फ्रांस से उड़ान भरने के बाद तीनों लड़ाकू विमान UAE के रास्ते भारत पहुंचे. रास्ते में यूएई एयरफोर्स की मदद से राफेल विमानों में हवा में ही ईंधन भरा गया.

सरकारी सूत्रों ने बताया कि अप्रैल में ही फ्रांस से 7 से 8 राफेल और आने हैं. यानी, अगले कुछ दिनों में ही हमारे पास 10 से ज्यादा राफेल लड़ाकू और होंगे. इसके बाद हमारे पास राफेल लड़ाकू विमानों की संख्या 21 के आसपास पहुंच जाएगी. अभी 11 लड़ाकू विमाना अंबाला की 17वीं स्क्वाड्रन का हिस्सा हैं. आज जो तीन विमान आए हैं, ये भी अंबाला की 17वीं स्क्वाड्रन का हिस्सा होंगे. अब कुल मिलाकर भारत के पास 14 लड़ाकू विमान आ गए हैं.

जानकारी के मुताबिक, शाम करीब सात बजे तीनों ही राफेल विमान गुजरात पहुंचेंगे. इन तीन राफेल के मिलने के साथ ही अब गोल्डन एरो स्क्वाड्रन में राफेल की कुल संख्या 14 हो गई है.

जो राफेल लड़ाकू विमान बुधवार को भारत पहुंच रहे हैं, वो M88-3 Safran के डबल इंजन से युक्त हैं. जिनमें स्मार्ट वेपन सिस्टम लगाया गया है, जो दुश्मन को मिट्टी में मिला सकते हैं.

पिछले साल चीन सीमा पर दिखाई थी ताकत

गौरतलब है कि पिछले साल जुलाई-अगस्त में भारत को फ्रांस से राफेल लड़ाकू विमान मिलने शुरू हो गए थे. पहले इन्हें फ्रांस में ही रिसीव किया गया, फिर ट्रेनिंग के बाद ये भारत आए. भारत आते ही राफेल लड़ाकू विमान अपने मिशन पर लग गए थे.

पिछले साल जब लद्दाख सीमा पर चीन के साथ तनाव चल रहा था, तब राफेल लड़ाकू विमान ने लेह-लद्दाख के आसमान में अपना जलवा दिखाया था.

जानकारी के लिए बता दें कि भारत को फ्रांस से कुल 36 राफेल लड़ाकू विमान मिलने हैं, जिनका समझौता साल 2016 में हुआ था. 2020 से इन विमानों की डिलीवरी शुरू हुई और साल 2022 के अंत तक सभी 36 विमान भारत को मिल जाएंगे.