breaking news New

हाईड्रो पावर प्रोजेक्ट का अवलोकन करने टाईपदर पहुंचे कलेक्टर, ग्रामीणों के लिए जीवनदायिनी साबित होगा परियोजना

हाईड्रो पावर प्रोजेक्ट का अवलोकन करने टाईपदर पहुंचे कलेक्टर, ग्रामीणों के लिए जीवनदायिनी साबित होगा परियोजना

जगदलपुर। जिले के जगदलपुर विकासखंड के सुदूर वनांचल के ग्राम में टाईपदर में निर्मित की जा रही पूरे छत्तीसगढ़ राज्य में अपने तरह का अनूठा बहुउद्देशीय मिनी हाईड्रो पावर प्रोजेक्ट का अवलोकन करने कलेक्टर  रजत बंसल निर्माणाधीन स्थल पर आज 24 दिसम्बर को पहुंचे थे। इस परियोजना का अवलोकन करने कलेक्टर  बंसल जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  इंद्रजीत चन्द्रवाल के साथ दुर्गम रास्तो एवं घरघोर जंगलों से होकर निर्माणाधीन स्थल ग्राम टाईपदर के गणेश बाहार नाला में पहुंचे थे। यह परियोजना पूरे राज्य में अपने आप में एक अभिनव परियोजना है। बस्तर जैसे सुदूर वनांचल के दुर्गम क्षेत्रों में इसका निर्माण अपने आप में एक उपलब्धि है। यह परियोजना टाईपदर जैसे दुर्गम एवं पहुंच विहीन ग्राम के लिए वास्तव में जीवनदायिनी साबित होगा।

इसके निर्माण पूरा हो जाने से ग्राम वासियों को बिजली की सुविधा के अलावा पेयजल एवं सिंचाई हेतु समुचित मात्रा में पानी उपलब्ध हो पाएगा। कलेक्टर  बंसल ने अधिकारियों को इस परियोजना के निर्माण कार्य को 15 फरवरी 2021 तक अनिवार्य रूप से पूरा करने के निर्देश भी दिए। इस दौरान इस परियोजना के प्रमुख सुत्रधार एवं वरिष्ठ अधिकारी डॉ. पूनीत एवं कार्यपालन अभियंता जल संसाधन विभाग  भंडारी तथा कार्यपालन अभियंता छत्तीगढ़ विद्युत वितरण कंपनी  नवीन पोयाम एवं अधिकारियों के अलावा ग्रामीणजन उपस्थित थे।

सुदूर वनांचल के ग्राम टाईपदर में विशेष केंद्रीय सहायता एवं डीएमएफटी मद से इस बहुउद्देशीय परियोजना का निर्माण किया जा रहा है। इसके अंतर्गत गणेश बाहार नाला में स्टाप डेम एवं टर्बाइन के अलावा कुछ दूरी पर पानी के स्टोरेज हेतु टैंक का निर्माण किया जा रहा है। निमार्ण कार्य लगभग पूर्णत: की ओर है। मौके पर उपस्थित इस परियोजना के प्रमुख सुत्रधार एवं वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. पुनीत ने कलेक्टर  रजत बंसल को इस परियोजना के उद्देश्य एवं कार्य पद्धति के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस परियोजना के पूरा हो जाने से ग्राम टाईपदर के लगभग 50 हेक्टेयर कृषि भूमि को सिंचाई की सुविधा मिलने के अलावा ग्रामीणों को समुचित मात्रा में पानी एवं बिजली मिल सकेगी।

इस दौरान कलेक्टर  बंसल एवं सीईओ जिला पंचायत  चन्द्रवाल ने नाला एवं खेल खलिहान तथा दुर्गम रास्तों से गुजर कर पूरे क्षेत्र का अवलोकन किया। कलेक्टर  बंसल ने विद्युत एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारियों को इस परियोजना अंतर्गत बिजली एवं पेयजल संबंधित कार्यो के लिए तीन दिनों के भीतर प्राक्लन प्रस्तुत करने के निर्देश भी दिए। इस परियोजना को लेकर ग्रामीणों में काफी हर्ष देखने को मिल रहा है।