चैत्र नवरात्र में मां दंतेश्वरी के मंदिर के रहेंगे कपाट बंद

चैत्र नवरात्र में मां दंतेश्वरी के मंदिर के रहेंगे कपाट बंद

दंतेश्वरी टेंपल कमेटी ने लोगों से की अपील घर में रहकर ही मां दंतेश्वरी मां की आराधना करें

दंतेवाड़ा, 24 मार्च। दंतेवाड़ा जिले में चैत्र नवरात्रि को लेकर प्रतिवर्ष लोगों में बहुत उत्साह रहता है इसीलिए लोग अपने सुखद जीवन के लिए चैत्र नवरात्रि में श्रद्धालुओं मां दंतेश्वरी के दरबार में जीवन ज्योत जलाकर  आदिशक्ति मां दंतेश्वरी देवी के दर्शन कर आशीर्वाद मांगते हैं और सुखद अनुभूति करते हैं परंतु इस वर्ष 2020 में विश्व कोरोना वायरस जैसी जटिल समस्या से पूरा देश लड़ रहा है। इसीलिए दंतेवाड़ा में 52 शक्तिपीठों में एक पीठ मां दंतेश्वरी माई मंदिर को भी सुरक्षा की दृष्टि से पुरातत्व विभाग व टेंपल कमिटी द्वारा सदस्यों की बैठक कर नवरात्र में मंदिर के कपाट बंद कर दिए गए हैं।  चैत्र नवरात्रि में श्रद्धालुओं द्वारा ज्योति कलश की जो पर्ची कटाई गई उसे अगले वर्ष चैत्र नवरात्रि में उनके नाम पर जलाया जाएगा, परंतु इस वर्ष कोरोना जैसी समस्या से लड़ने के लिए हमारे देश को बल मिले और हमारे देशवासी सुरक्षित रहे इसके लिए मंदिर कमेटी के लोगों ने और यहां के प्रधान पुजारी ने यह कहां है कि इस वर्ष चैत्र नवरात्र में एक तेल का दिया और एक घी का दिया ही जलाया जाएगा।


आदिशक्ति मां से सभी से प्रार्थना की जाएगी की देशवासियों को कोरोना वायरस जैसे संक्रमण बीमारी से निजात मिले  और हमारे यहां भारत में सभी श्रद्धालु सुरक्षित रहें। चैत्र नवरात्रि में जो श्रद्धालू माता के दर्शन से वंचित रह गए उनके लिए वह प्रार्थना करेंगे कि वह घर में रहकर ही इस समस्या से लड़े और घर में बैठकर मां दंतेश्वरी माता की पूजा अर्चना कर चैत्र नवरात्र बनाएं  मंदिर कमेटी ने श्रद्धालुओं के लिए जो व्यवस्था शुरू की थी कोरोना वायरस जैसी समस्या को देखते हुए सारी व्यवस्था स्थगित कर दी गई और उन्हें अपने ही घर में रहकर माता की आराधना करने का आग्रह किया है ताकि यह समस्याएं मंदिर प्रांगण तक ना पहुंच पाए और मंदिर प्रांगण में अलग-अलग मंदिरों में दीए जलाए जाएंगे।


दंतेश्वरी मंदिर के प्रधान पुजारी ने आम जनता से अपील की है कि देश की इस विकट घड़ी में जनता एक दूसरे का साथ दें और सहयोग करें।