breaking news New

भ्रष्टाचार चरम पर नामांतरण के लिए पटवारी ने ग्रामीण से माँगा 4 हजार

भ्रष्टाचार चरम पर नामांतरण के लिए पटवारी ने ग्रामीण से माँगा 4 हजार

चंद्र प्रकाश साहू

ग्रामीण ने पटवारी से नामांतरण के लिए लगाई गुहार, पटवारी ने कहा 4 हजार लगेंगे, 500 में क्या होगा मैं तो देख लूंगा अधिकारी नही मानेंगे, पीड़ित ने कहा गरीब हूं माता, पिता की मौत हो चुकी है साहब कहा से लाऊँ पैसा

सुरजपुर।  जिले के राजस्व विभाग में भ्रष्टाचार अपने चरम पर है। राजस्व विभाग के दफ्तरों में किसानों के छोटे से कार्य को लेकर चप्पल घिसने को मजबूर है। राजस्व दफ्तरों में खुले आम रिश्वत की मांग की जाती है। और उच्च अधिकारी के संरक्षण बनी हुई है। 

ऐसे ही एक किसान ने अपनी आप बीती सुनाई है। बल्कि बकायदा पटवारी से रिश्वत की बात करते आडियो रिकॉर्ड भी किया है। मामला सूरजपुर जिले के ओड़गी तहसील क्षेत्र चांदनी बिहारपुर के ग्राम पंचायत महुली पीड़ित सुरेश कुमार साकेत पिता स्वर्गीय रूप सायं साकेत एक छोटा सा गरीब किसान अपने छोटे से कार्य 

नामांतरण दर्ज कराने के लिए मेहली ग्राम के पटवारी ऋतु राज हल्का नम्बर 07 के पासगया हुआ था। पटवारी साहब कुर्शी और अधिकारी के सरंक्षण में इतने मसगुल है। कि खुले आम रिश्वत की मांग कर रहे है। ग्रामीण सुरेश कुमार साकेत नामांतरण के लिए रिश्वत की रकम कम करवाने के लिए कह रहा है। अपनी गरीबी का पीड़ा सुना रहा है। 500 रुपये देने की बात कह रहा है। वहीं पटवारी साहब 4 हजार रुपये रिश्वत की मांग कर रहे है। कह रहे है कि हम तो समझ लेगे किन्तु अधिकारी नही समझेंगे।

शुरेश कुमार ने चर्चा करते हुए कहा कि मैंने नामांतरण के लिए पटवारी ऋतु राज को 500 रुपये रिश्वत के तौर पर दिए थे। जिसके बाद भी 4 हजार रुपये की मांग और कि जा रही है। आगे कहते है कि मैं अपने दादा दादी के साथ रहता हूँ दादी बस जीवित है। और 4 हजार की रकम कहा से लाकर दूंगा, इस सम्बंध में जनप्रतिनिधियों से बताया तो पटवारी ऋतु राज कहते है कि नेतागिरी कर रहे हो अब तुम्हारा काम नही होगा। जहां जाना है चले जाओ, साथ ही आडियो में पटवारी साफ साफ रिश्वत की मांग बेधड़क करते हुए देखे जा सकते है। ऑडियो में अधिकारी को देने की बात कर रहे है। आखिर ये कौन अधिकारी है जो रिश्वत की मांग कर रहे है। जिनके तक सभी पहुँचाना चाहते है। 

बतादें कि सुरेश कुमार साकेत पिता रूप साए साकेत के माता का देहांत लगभग 4 वर्ष पूर्व तो वही पिता का देहांत जब अबोध बच्चे थे। तब उनकी मौत हो चुकी है।   

इस सम्बंध में पटवारी ऋतु राज से सम्पर्क करने की कोसिस की गई। आउट ऑफ रेंज आया, तो वहीं तहसीलदार ओड़गी श्याम बिहारी से सम्पर्क की गई। उनके द्वारा फोन कॉल रिसीव नही किया गया है।

वहीँ इस सम्बध में सुरजपुर एसडीएम पुष्पेंद्र शर्मा ने कहा कि जानकारी भेज दीजिये, भैयाथान एसडीएम से बात करता हूं।