breaking news New

सहायक यंत्री के बाद कार्यपालन अभियंता व कनिष्ठ अभियंता का स्थानांतरण

 सहायक यंत्री के बाद कार्यपालन अभियंता व कनिष्ठ अभियंता का स्थानांतरण

कोरबा। कोरबा पूर्व संयंत्र को बंद करने से पहले यहा कार्यरत अधिकारी. कर्मचारियों का स्थानांतरण अन्यत्र करना शुरू हो गया है। प्रबंधन ने सहायक यंत्री के बाद 15 कार्यपालन अभियंता व 37 कनिष्ठ अभियंता का स्थानांतरण कर दिया।

विद्युत उत्पादन कंपनी आगामी 31 दिसंबर को कोरबा पूर्व संयंत्र की 120 मेगावाट क्षमता की दोनों इकाइ को बंद करने की तैयारी में जुट गया है। सभी विभागों में सूचना देने के बाद अब यहां कार्यरत कर्मियों का स्थानांतरण अन्यत्र करना शुरू कर दिया है। विद्युत उत्पादन कंपनी के मुख्य अभियंता मानव संसाधन ने सर्कुलर जारी कर एक दिन पहले सहायक अभियंताओं एई का सामान पद पर ही स्थानांतरण किया था। इसके बाद कार्यपालन अभियंता के स्थानांतरण की सूची जारी की है।

इसमें राजेश कुमार बंजारा एमसी सोनी परमानंद पांडेय आशीष कुमार शाह गणेशकुमार भगत एसआर धर्वे शिवम सिंह रात्रे पीआर गुलाब खाखा शिवेन्द्र कुमार आरजी भारद्वाज को हसदेव ताप विद्युत संयंत्र एचटीपीपी स्थानांतरित किया गया है। वहीं कार्यपालन अभियंता गौराम साहू को मुख्य अभियंता नवीनीकरण रायपुरए राकेश्वरी टांडे देवीशंकर राय बीएल जैन को डा श्यामा प्रसाद मुखर्जी ताप विद्युत गृह डीएसपीएम व डीएसपीएम से बीके साव को कार्यपालक निदेशक वित्त रायपुर स्थानांतरित किया गया है।

इसके साथ ही सलमा योगेश साहू दिलीप कुमार देवांगन प्रीति कंवर आस्था गहरवाल अभिषेक धरावी आशीष कुमार सोनी राजेश कुमार गवेल मनोज चौहान उत्कर्ष तिर्की कालेश्वर सिंह आशीष कुमार सचिन पैकरा राकेश दीप गौरव एक्का प्रदीप कुमार तिग्गा शशिभूषण साहू वरूण कुमार हरिनारायण चौहान एसके विश्वकर्मा नारायण प्रसाद साहू टीकाराम वर्मा लक्ष्मी नारायण लाल खोम सिंह विजय सिंहा चक्रधर परेजा यशोदा देवांगन प्रकाश सिंह शिबु कुमार चौहान प्रशिक्षु कनिष्ठ अभियंता में अमित कुमार कुजूर मनोज कुमार मरकाम दिनेश कुमा्र भगत भूपेन्द्र कुमार सुधाकर आनंद दीप कुजूर विकेश तिर्की सुभाष कुमार बघेल एचटीपीपी को स्थानांतरित किया गया है। वहीं कनिष्ठ अभियंता विजय शेखर बख्सी को पूर्व से डीएसपीएम टीपीपी संयंत्र भेजा गया है। यहां यह बताना लाजिमी होगा कि पूर्व संयंत्र में 545 अधिकारी व कर्मचारी ही कार्यरत हैं।

इनमें दो दिन के भीतर लगभग सौ अधिकारी का स्थानांतरण किया गया, इसके पहले लगभग 50 कर्मचारी को अन्यत्र भेजा जा चुका है। बताया जा रहा है कि अन्य कर्मियों को भी जल्द स्थानांतरित किया जाएगा।