3 महीने बाद ही सक्ती मालखरौदा राज्य मार्ग की गुणवत्ता की खुलने लगी पोल

3 महीने बाद ही सक्ती मालखरौदा राज्य मार्ग की गुणवत्ता की खुलने लगी पोल

मालखरौदा, 27 सितंबर। सक्ती मालखरौदा राज्य मार्ग 16 सड़क का निर्माण कार्य 2015 में पूरा हुआ था जिसके निर्माण से लेकर  गुणवत्ता पर सवाल उठने लगे थे वह तो भला था कि इस मार्ग पर बहुत कम भारी वाहन चलते हैं जिसके कारण सड़क की दुर्दशा होने से बच गया लेकिन सड़क निर्माण की 3 महीने बाद ही पीडब्ल्यूडी के ठेकेदार सुभाष अग्रवाल द्वारा बनाए गए सड़क की गुणवत्ता की पोल खुलने लगी जब जगह जगह बनाए गए ढोल युक्त  पुल दबने लगे और इस जगह से गुजरने वाले दो पहिया चार पहिया वाहन हिचकोले खाने लगे। 

आनन-फानन में ठेकेदार ने जैसे तैसे करके इन गड्ढों को भर तो दिया लेकिन आज भी जंपिंग जारी है अब सड़क को 5 वर्ष होने वाले पोता के कोसा बाड़ी मोड़ के पास ढोल युक्त  पुल में बड़ा सा होल हो  गया है जिसके कारण कभी भी दो पहिया चार पहिया वाहन दुर्घटना के शिकार हो सकते हैं नीचे देखने से पता चल रहा है कि किसी प्रकार का मटेरियल दिखाई नहीं दे रहा जिस पर कोई भी वाहन के पहिया जाते साथ ही दुर्घटना का शिकार हो सकते हैं सड़क का निर्माण के पी लहरे एसडीओ  के देखरेख में हुआ था जो कि आज  की आज भी क्षेत्र में  एसडीओ है देखने वाली बात होगी कि कब तक इसका मरम्मत करवाते हैं ।