breaking news New

भारत के खिलाफ PM इमरान ने फिर दिखाया अकड़, पाकिस्तानी महिलाओ का फूटा गुस्सा

भारत के खिलाफ PM इमरान ने फिर दिखाया अकड़, पाकिस्तानी महिलाओ का  फूटा गुस्सा

 इस्लामाबाद। पाकिस्तान ने  50 हजार टन चीनी आयात करने के लिए ग्लोबल टेंडर जारी किए. लेकिन इस टेंडर में उन देशों का नाम नहीं है जिन्हें पाकिस्तान ने 'प्रतिबंधित देश' की सूची डाल रही है, इसमें भारत का नाम भी शामिल है.

चीनी के आयात के लिए ट्रेडिंग कॉरपोरेशन ऑफ पाकिस्तान (टीसीपी) की तीसरी निविदा है. इससे पहले, पाकिस्तान ने 50,000 टन के लिए दो टेंडर जारी किए थे लेकिन उन देशों में शक्कर की कीमत ज्यादा होने की वजह से उन निविदाओं को रद्द कर दिया गया था.  आने वाले रमजान के पवित्र महीने के मद्देनजर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के लिए बढ़ती कीमतों ने चीनी को कड़वा बना दिया है. आसमान छू रही महंगाई को लेकर पाकिस्तानी जनता का गुस्सा भी सामने आ रहा है. पाकिस्तान में चीनी की कीमत 100 रुपये किलो तक पहुंच गई है.

50,000 टन चीनी के आयात के लिए एक नए इंटरनेशनल टेंडर जारी करते हुए टीसीपी ने वैश्विक आपूर्तिकर्ताओं को स्पष्ट कर दिया कि " चीनी लदा कार्गो इजरायल या किसी अन्य प्रतिबंधित देश से नहीं आना चाहिए." टेंडर में कहा गया है कि ग्लोबल सप्लायर्स को 14 अप्रैल तक टेंडर भरने को कहा गया है.

चीनी के दामों को लेकर एक महिला ने इमरान खान को खरी-खोटी सुनाई थी जो सुर्खियां बनीं. इमरान खान ने जनता के सवालों का सामना किया था. इस दौरान एक महिला ने कहा था कि रमजान का महीना आने वाला है लेकिन जरूरी सामानों के दाम आसाम छू रहे हैं.
इमरान खान से महिला ने कहा था कि, 'प्लीज महंगाई कम करने के अपने चुनावी वादे को पूरा करें. अगर आप ये नहीं कर सकते हैं तो ये जो पहले दिन से बोल रहे हैं कि घबराना नहीं है, तो आप हमें घबराने की इजाजत दे दें.'

 पाकिस्तान की इकोनॉमिक कॉर्डिनेशन कमेटी ने भारत से चीनी और कपास आयात की अनुमति देने की सिफारिश की थी. इससे दोनों मुल्कों के बीच फिर से कारोबारी रिश्ते शुरू होने की उम्मीद जगी थी, लेकिन इमरान खान सरकार की कैबिनेट ने इस फैसले को फिलहाल के लिए स्थगित कर दिया था. पाकिस्तान की सरकार ने कहा कि जब तक कश्मीर पर भारत अपने फैसले को वापस नहीं ले लेता, तब तक रिश्ते बहाल नहीं होंगे.