breaking news New

‘‘मनखे-मनखे एक समान’’ के संदेश से बाबा गुरू घासीदास ने दुनिया को दी महान सीख-मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

‘‘मनखे-मनखे एक समान’’ के संदेश से बाबा गुरू घासीदास ने दुनिया को दी महान सीख-मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल

रायपुर। भूपेश बघेल आज दुर्ग जिले के पाटन तहसील अंतर्गत ग्राम घुघुवा में आयोजित गुरू बाबा घासीदास जयंती मिलन मंडई कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने ग्राम घुघुवा के तालाब के सौंदर्यीकरण सहित अन्य विकास कार्यों की घोषणा की।

    मुख्यमंत्री  बघेल ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि बाबा गुरु घासीदास का ‘‘मनखे-मनखे एक समान’’ का संदेश हम सबका आदर्श है। कुछ ही शब्दों में गुरु घासीदास जी ने इतना अद्भुत संदेश दुनिया को दिया है। इससे यह भी पता चलता है कि हमारी छत्तीसगढ़ी भाषा में हृदय के उद्गारों को व्यक्त करने की कितनी अद्भुत क्षमता है। गुरू घासीदास ने एक ऐसे समाज की कल्पना की, जहाँ सभी लोग बराबर है। इसमें आदर्श समाज की परिकल्पना है। उनकी संकल्पना के अनुरूप छत्तीसगढ़ में हम सब बहुत सद्भाव से रहते हैं। सद्भाव हमारी संस्कृति का मूल है।

    मुख्यमंत्री बघेल ने आगे कहा कि गुरु घासीदास ने हमेशा सत्य आचरण की बात कही, इसका गहरा प्रभाव हमारे छत्तीसगढ़ राज्य पर पड़ा है। छत्तीसगढ़ का इतिहास गौरवशाली है। यहां के निवासी बहुत सरल, सहज और ईमानदार हैं। छत्तीसगढ़ में जनजातीय संस्कृति बड़ी समृद्ध रही है। इसे सहेजने और बढ़ाने की जरूरत है। हम इस अनुपम सांस्कृतिक धरोहर को सहेजने का कार्य कर रहे हैं। अपनी समृद्ध सांस्कृतिक धरोहर पर हमें गर्व है।