breaking news New

महिला स्व सहायता समूहों द्वारा बनाए जा रहे मिट्टी, गोबर के दीपक से सजेगा बाजार

महिला स्व सहायता समूहों द्वारा बनाए जा रहे मिट्टी, गोबर के दीपक से सजेगा बाजार


 सक्ती महिला स्वसहायता समूहों की कलाकृतियों से जगमगाएगी दीपावली

जांजगीर-चांपा, 3 नवंबर। जिले के स्व सहायता समूहों द्वारा बनाए जा रहे मिट्टी गोबर के दीपक, ग्वालिन से इस साल की दीपावली  रौशन होगी। दीपक और ग्वालिन बनाने का काम पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की योजना राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (बिहान) से जुड़ी महिला समूहों के द्वारा गांव-गांव में किया जा रहा है। दीपावली में घरों की रोशनी करने के लिए दीपक एवं पूजन के लिए ग्वालिन को बाजार में विक्रय करने के लिए ये समूह पहुंचेंगे। दीपक, ग्वालिन एवं अन्य सजावटी सामग्री खरीदने की अपील जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी तीर्थराज अग्रवाल ने लोगों से की है। इससे महिला समूहों को आर्थिक रूप से मदद मिलेगी और उनके घर भी दीपावली में रोशन होंगे।

दीपावली पर्व पर दीपक एवं ग्वालिन सहित विभिन्न मिट्टी एवं गोबर से बनी सामग्री का विशेष महत्व है। दीपावली में घरों को जगमगाने के लिए मिट्टी एवं गोबर से दीपक बनाने का काम जिले की स्व सहायता समूहों की महिलाएं गोठानों के माध्यम से एवं घरों में बनाने का काम कर रही हैं।

 जिपं सीईओ ने बताया कि शासन की महत्वाकांक्षी  गोधन न्याय योजना के तहत जिले में कलेक्टर यशवंत कुमार के मार्गदर्शन में गोठान ग्रामों में गोबर खरीदी कर स्व सहायता समूहों द्वारा जैविक खाद का निर्माण किया जा रहा है। इसी तारतम्य में आगामी दीपावली को देखते हुए गोठानों में एकत्रित गोबर से गार्डन पावडर, गोबर लकड़ी, गोबर धूपबत्ती, गोबर दीया, ग्वालिन को बनाने का काम किया जा रहा है। इससे समूहों को आत्मबल मिलेगा और वे स्वरोजगार की ओर अग्रसर होंगी। इस दौरान उन्होंने लोगों से कोरोना से बचने मास्क लगाने, फिजिकल डिस्टेंस एवं सतत हेंडवाश, सैनिटाइजर करने की भी अपील की है।

बाजारों की शान बनने तैयार समूहों के बनाए 

 सुंदर , रंग बिरंगी हरे-पीले, गुलाबी रंगों से सजे दिए, मनमोहक ग्वालिन, तरह-तरह की मटकी एवं अन्य सजावट की सामग्री समूहों द्वारा विक्रय करने के लिए तैयार की जा रही है। नवागढ विकासखण्ड के अंतर्गत ग्राम पंचायत पेंड्री के नारी जागृति स्व सहायता समूह, ग्राम पंचायत खोखरा जागृति स्व सहायता समूह, ग्राम पंचायत सेवई विश्वा महिला स्व सहायता समूह एवं कटौद कलस्टर में ग्राम पंचायत कटौद जय मां चण्डी एवं ग्राम पंचायत तुस्मा के जय सतनाम समूह द्वारा दीपक, ग्वालिन एवं सजावट की सामग्री का निर्माण किया जा रहा है। 

बलौदा विकासखण्ड ग्राम पंचायत बुडगहन की महामाया स्व सहायता समूह की महिलाओं द्वारा 6 हजार दिया तैयार किया गया है। जिसमें 2 हजार दिये को बेचा जा चुका है।  ग्राम पंचायत महुदा (ब) के जय अंबे मैया समूह द्वारा 10 हजार दिया तैयार कर लिया गया है।  शीतला समूह द्वारा 5300 सौ दिये तैयार किए गए हैं, जिसे आगामी हाट बाजारों में बेचा जाएगा। इसी तरह जैजैपुर विकासखण्ड के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत ठठारी की कल्याणी महिला स्व सहायता समूह की महिलाओं द्वारा रंगबिरंगे दीपक को मिट्टी एवं गोबर से बनाने का काम पिछले एक सप्ताह से किया जा रहा है। जनपद पंचायत बम्हनीडीह की ग्राम पंचायत बम्हनीडीह के राधे-राधे स्व सहायता समूह एवं अन्य समूहों द्वारा मिट्टी एवं गोबर से दीया, ग्वालिन एवं अन्य साम्रगी को तैयार किया जा रहा है, जिसे जनपद पंचायत में ही स्टॉल लगाकर विक्रय किया जाएगा।