breaking news New

हिंदुस्तान जिंक के सहयोग से बनने वाली पेयजल योजना का शिलान्यास

हिंदुस्तान जिंक के सहयोग से बनने वाली पेयजल योजना का शिलान्यास

चित्तौड़गढ़  . राजस्थान के चित्तौड़गढ़ शहर में उत्पन्न पेयजल संकट से निपटने के लिए हिंदुस्तान जिक के आर्थिक सहयोग से अब आठ किलोमीटर लम्बी पाईप लाईन डालने की योजना का आज शिलान्यास किया गया।
शिलान्यास कार्यक्रम में जिला कलेक्टर ताराचंद मीना ने कहा कि हिन्दुस्तान जिंक के सहयोग से बिछायी गयी इस पाइप लाइन के माध्यम से प्रतिदिन 10 एमएलडी पेयजल घोसुण्डा बांध में पहुंचाया जाएगा जिससे पानी की उपलब्धता दुुगुनी हो जाएगी और चित्तौड वासियों की पेयजल की नियमित आपूर्ति संभव हो सकेगी।
हिन्दुस्तान जिंक के उप मुख्य प्रचालन अधिकारी सी चंद्रु ने कहा कि हिन्दुस्तान जिं़क हमेशा आमजन एवं जिला प्रशासन के सहयोग हेतु तत्पर है। सीएसआर के तहत् बिछाई गयी इस पाईप लाइन से भविष्य में भी शहर में पेयजल संकट के समय आपूर्ति हो सकेगी।
शहर की पेयजल आपूर्ति का मुख्य स्रोत घोसुण्डा बांध में वर्तमान में लगभग 40 एमसीएफटी पानी उपलब्ध है वहीं बनस्टी की अनुपयोगी तीन माइंस में 55 एमसीएफटी पानी है जिसे पाइप लाइन के माध्यम से घोसुण्डा बांध में प्रतिदिन औसतन 100 लाख लीटर पानी पहुंचाने की योजना है। जिसके बाद शहर को अभी 48 घंटे में होने वाली जलापूर्ति व्यवस्था जल्द नियमित होने की उम्मीद है।
जिला कलेक्टर की पहल पर हाईकोर्ट से अनुमति लेकर बनस्टी से घोसुण्डा तक इस योजना क्रियान्वित किया गया। बनस्टी माइंस से घोसुंडा बांध तक साढ़े आठ किमी पाइपलाइन का कार्य हिन्दुस्तार जिं़क ने जिला कलेक्टर के निर्देशन में पीएचईडी विभाग के सहयोग से क्रियान्वित किया। बनस्टी माइंस की खदानो मे ं5 पंप एवं फ्ालेटिंग डक की सहायता से संचालित कर पानी पहुंचाया जाएगा। गौरतलब है कि हिंदुस्तान जिंक पर पिछले छः माह से जल दोहन के गंभीर आरोप लग रहे थे और वर्तमान में शहर पांतरे जलापूर्ति पर आश्रित है।