कोरोना को मात देने जल्द इंजेक्शन का होगा इजाद

कोरोना को मात देने जल्द इंजेक्शन का होगा इजाद

 

नई दिल्ली। कोरोना कोविड19 ने पूरे देश में पैर पसार लिया है। हर दिन हजारों लोगों यह बीमारी अपने कालग्रास बना रही है। लाखों लोगों की नौकरी चली गई आैर बेरोजगार हो गया। कितनों ने आर्थिक तनाव के चलते आत्महत्या कर ली। अभी तक मौखिक रूप से इस बीमारी का इजेक्शन का इजाद नहीं हो सका है। हमारे साइंटिस, डाक्टर,शौधकर्ता  कोरोना की तोड़ के लिए कड़ी मेहनत कर रहे है।  वहीं आशा की एक किरण पूणे में दिख रही है।  कोरोना काल में वैक्सीन निर्माता सीरम इंस्टीट्यूट ने उसकी पहचान का विस्तार कर दिया है। दुनियाभर में 60 फीसद से ज्यादा वैक्सीन की आपूर्ति करने वाले भारत के इन दोनों शहरों में स्थित कंपनियां कुल निर्यात में 75 प्रतिशत से अधिक का योगदान देने की क्षमता रखती हैं। श्व के प्रमुख शोधकर्ता भारतीय कंपनियों के संपर्क में : दुनियाभर में 180 से ज्यादा कोरोना वैक्सीन के विकास का काम चल रहा है। इनमें से करीब 25 वैक्सीन परीक्षण के अंतिम दौर में हैं। यानी उनका मनुष्यों पर पड़ने वाले प्रभाव का आकलन किया जा रहा है। दुनिया को विभिन्न बीमारियों से जुड़ी 60 फीसद वैक्सीन की आपूर्ति करने वाली भारतीय कंपनियां इस मामले में दक्ष हैं। उनकी तकनीक व मशीनें आधुनिक हैं। इसे देखते हुए कोरोना वैक्सीन के विकास में लगे शोधकर्ता व संस्थान उनके व्यावसायिक उत्पादन के लिए भारतीय व खासकर अहमदाबाद तथा पुणे की कंपनियों के संपर्क में हैं।