breaking news New

भारी भरकम बिल के विरोध में ग्रामीणों ने बिजली बिल की प्रतियां जलाई

भारी भरकम बिल के विरोध में ग्रामीणों ने बिजली बिल की प्रतियां जलाई


बेमेतरा के रांका सब स्टेशन में भारी भरकम बिल के खिलाफ जिला पंचायत सभापति राहुल टिकरिहा के नेतृत्व में में किसानों व ग्रामीणों का प्रदर्शन....

 बेमेतरा। भारी-भरकम बिजली बिल को लेकर रांका सब स्टेशन के अंतर्गत आने वाले सभी गांव के किसानों व ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन। सब स्टेशन के अंतर्गत आने वाले सभी गांव में अधिक बिल की शिकायतें थी। जिसमें 20 हजार से लेकर 7 लाख से अधिक  के बिल जारी किए गए थे।

कुरूद रामकुमार साहू को 7,59,040 के बिल जारी किया गया है।  मानो व किसी उद्योग का संचालक हो। जिसे लेकर जिला पंचायत सभापति राहुल टिकरिहा ने एकदिवसीय जन चौपाल लगाया था। जहां आस पास के किसान व ग्रामीण भारी संख्या में अपना बढ़ा  हुआ बिल लेकर पहुंचे थे। 

राहुल ने बताया कि बिजली कर्मियों की लापरवाही का खामियाजा उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ रहा है। किसानों को अनाप शनाप बिजली के बिल भेजे जा रहे हैं, जिससे उनके माथे पर चिंता की लकीरें खिंच गई है । भारी भरकम बिल के विरोध में ग्रामीणों ने बिजली बिल की प्रतियां जलाई ।

इस दौरान सभापति जिला पंचायत राहुल टिकरिहा ने कहा किसानों व मजदूर वर्ग को इस प्रकार के बिल जारी करना दुर्भाग्यपूर्ण हैं। क्योंकि कांग्रेस सरकार ने अपने घोषणा पत्र में बिजली बिल हाफ व 5 एचपी तक के किसानी बिजली बिल को माफ करने का वादा किया था। किंतु यह धरातल में कहीं दिखाई नहीं देता, इसके विपरीत बिजली सप्लाई को आधी कर दी गई है।


प्रदर्शन में धर्मेंद्र साहू, किशन साहू, राकेश साहू, गोलू साहू,  कुलेश्वर निषाद, मनीराम निषाद, नरेंद्र साहू, हुलास पाल, संजय साहू, ओंकार साहू, दुष्यंत साहू,नकुल निषाद, सुखदेव निषाद, सोहन पटवा, रामाधार साहू, दुखनि यादव, मानाराम यादव, हेमंत साहू, उमा साहू, देरहाराम, संतोषी साहू, गंगाराम निषाद, मानाराम केंवट, राममकुमार साहू, रामपाल, प्यारेराम, धन्नू निषाद, रामप्रसाद निषाद, रामानंद निषाद, लखन निषाद, राजू निषाद, कुमारी बाई पथरा, यशवंत साहू, बजरंग पटवा, मालिक राम व सैकड़ों की संख्या में किसान व ग्रामीण उपस्थित रहे।

पूर्व सरकार की सौभाग्य योजना पर बट्टा लगा रही कांग्रेस सरकार..

राहुल टिकरिहा ने बताया कि बिजली विभाग उपभोक्ताओं को सुरक्षा निधि के नाम पर भारी भरकम बिल थमा रही है। भाजपा सरकार में सौभाग्य योजना के तहत जिन गरीब परिवारों को निशुल्क बिजली दी गई थी, उनसे अब बिजली विभाग द्वारा सुरक्षा निधि के नाम पर हजारों की वसूली की जा रही है। स्पष्ट है कि राज्य सरकार बिजली के मामले में किसानों से छलावा कर रही है ।

पूर्व सरकार में पंप कनेक्शन निशुल्क जारी किए गए थे। जिन पर बिल न के बराबर ही आता था। किन्तु यह सरकार उन पर भी भारी भरकम बिल जारी कर रही है। आपको बता दें कठिया के डॉक्टर डीपी वर्मा को पंप कनेक्शन का एक लाख से अधिक बिल थमाया गया है । 

भारी भरकम बिजली बिल में  गड़बड़ी की आशंका, जांच की उठी मांग

राहुल टिकरिहा ने बताया कि विद्युत नियामक आयोग के अध्यक्ष हेमंत वर्मा ने उपभोक्ताओं को थमाया जा रहे भारी भरकम बिजली बिल में विभागीय गड़बड़ी पाए जाने पर स्वत संज्ञान लिया है और 26 नवंबर तक कंपनी के अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी है ।

पूरे प्रदेश में यही हाल है, खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में किसानों को अनाप-शनाप बिल भेजे जा रहे हैं, जो किसान पटाने में असमर्थ हैं । बिलासपुर जिला क्षेत्र में बिजली बिल भारी गड़बड़ियां पाई गई हैं । स्थानीय जिला में भी जांच होने पर बड़ी गड़बड़ी सामने आने की संभावना है। 

विद्यायक आशीष छाबड़ा के पुतले दहन किए गए, व बांटे गए घोषणा पत्र

आपको बता दें कि विधायक आशीष छाबड़ा के घोषणा पत्र क्रमांक 3 में  बोर पम्प 5 एच पी तक व घरेलू बिल माफ की घोषणा" लिखी गयी है। किंतु आज ऐसी स्थिति है की बिल का भुगतान कर पाना नामुमकिन सा है। उपभोक्ताओं ने जीवन में ऐसे बिल नहीं देखे थे। इसके विरोध स्वरूप विधायक का पुतला दहन किया गया साथ ही घोषणा पत्र बांटे गए।