breaking news New

मनरेगा के तहत 126 ग्राम पंचायतों में 160 विभिन्न कार्यों के लिए 13.17 करोड़ की मिली मंजूरी

मनरेगा के तहत 126 ग्राम पंचायतों में 160 विभिन्न कार्यों के लिए 13.17 करोड़ की मिली मंजूरी


78 तकनीकी सहायक मनरेगा कार्यों के साथ जन जागरूकता के भी करेंगे कार्य

बलौदाबाजार, 16 मई। कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने महात्मा गांधी नरेगा अंतर्गत पंजीकृत श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने कॆ उद्देश्य से 126 ग्राम पंचायतॊ मे 160 कार्य हेतु 13 करोड़ 17 लाख 02 हजार की स्वीकृति दी है। इसमे विकासखण्ड बालौदाबाजार के 9 ग्राम पंचायतों मे 13 कार्य 1 करोड़ 5 लाख रुपये , भाटापारा के 26 ग्राम पंचायतों मे 26 कार्य हेतु 2 करोड़ 20 लाख रुपये, बिलाईगढ़ के 28 ग्राम पंचायतों मे 43 कार्य के लिए 3 करोड़ 72 लाख रुपये, पलारी मे 40 ग्राम पंचायतों मे 50 कार्य हेतु 4 करोड़ 3 लाख रुपये के तथा सिमगा के 23 ग्राम पंचायत मे 28 कार्य 2 करोड़ 15 लाख राशि को  स्वीकृति दी है। कलेक्टर मे इन कार्यो को कोरोना महामारी के लिए जारी गाईडलाईन के अनुसार कराने को कहा है। जिन ग्राम पंचायतों मे गाइडलाइन का पालन नहीं किया जावेगा वहा कार्य बन्द रखने का निर्देश दिये है। साथ ही कलेक्टर श्री जैन के निर्देश पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत फरिहा आलम सिद्की ने कार्य सम्पादन के लिए अलग 12 बिंदुओं का मार्गदर्शिका जारी किया है।

जिसका अनुपालन कार्य सम्पादन के समय किये जाने हेतु ग्राम पंचायत के सचिव, ग्राम रोजगार सहायक को निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही कार्यो का सतत निरीक्षण सभी जनपद सीईओ को करने निर्देश दिये गये हैं।कलेक्टर ने ऑनलाइन माध्यम से पंचायतों में कार्यरत मनरेगा के सभी तकनीकी सहायकों एवं पीओ से बातचीत कर उनको मनरेगा के कार्य के साथ जन-जागरुकता कर कार्य करनें के निर्देश दिए है। कोरोना संकट से निपटने के लिये जिले मे कार्यरत 78 तकनीकी सहायको को अपने प्रभार के सभी ग्राम पंचायत में मूल कार्यों के साथ साथ कोवीड-19 के संक्रमण के रोकथाम के लिए आवश्यक पहल करने हेतु आदेश भी दिये है। इस संबंध में  जिला पंचायत सीईओ ने सभी तकनीकी सहायकों को आदेश जारी कर दिया गया है। 

तकनीकी सहायकों को ग्राम स्तर पर बिना कार्य के घुमने वाले,एक स्थान पर एकत्रित होकर चौक चौराहों पर बैठने वालें लोगों को समझाइश देनें कहा गया है। साथ ही कोविड के संदर्भ में जन जागरूकता के तहत अन्य कार्य करनें कहा गया है जिसमें मुख्य रूप से वैक्सीनेशन एवं टेस्टिंग शामिल है। साथ ही गांव के निगरानी दल के साथ मिलकर सहयोग की अपेक्षा की गयी है। साथ ही इनके द्वारा किये गये कार्य का प्रतिदिवस जिला स्तर से मूल्यांकन किया जावेगा। इस संबंध में सभी तकनीकी सहायकों को ग्राम सह एक अलग से निरीक्षण प्रतिवेदन दिया गया है।

 जिला पंचायत सीईओ डॉ फरिहा आलम सिद्की ने सभी जिला वासियों से आग्रह किया है की ग्राम पंचायत स्तर पर अनेक समूह जनहित एवं सामाजिक कार्य करते है।आप सब की भागीदारी से कोरोना रोकथाम को गावों में काफ़ी बल मिलेगा। आप सभी गावों में आगें आकर गावों को संक्रमण मुक्त बनाते हुए एक स्वस्थ समाज बनाने की दिशा में आगें बढ़ते है। आप सब के सहयोग के बिना यह लड़ाई जितना संभव नही है। इस बैठक के दौरान अतिरिक्त जिला पंचायत सीईओ हरिशंकर चौहान,सहायक परियोजना अधिकारी मनरेगा के के साहू सहित सभी पीओ एवं टीए उपस्थित थे।