breaking news New

भाजपा नेता गौरीशंकर श्रीवास की मानवीयता, गंभीर बीमारी से जूझ रही नन्ही रिम्शा के इलाज के लिए आगे आए, आर्थिक मदद की और दूसरों को भी पुकारा!

भाजपा नेता गौरीशंकर श्रीवास की मानवीयता, गंभीर बीमारी से जूझ रही नन्ही रिम्शा के इलाज के लिए आगे आए, आर्थिक मदद की और दूसरों को भी पुकारा!

जनधारा समाचार
रायपुर. हम सभी ने वह तस्वीर भी देखी है जिसमें चार राजनीतिक कार्यकर्ता एक हाथ में एक केला और एक सेवफल लेकर अस्पताल में किसी मरीज की मदद करने का ढोंग करते हुए दिखाई देते हैं लेकिन बहुत कम नेता होंगे जो दूसरों का दुःखदर्द अपना समझकर उनकी मदद के लिए सामने आते हैं. ऐसा ही उदाहरण सामने रखा है भाजपा किसान नेता गौरीशंकर श्रीवास ने.


श्रीवास युवा नेताओं में जाना-पहचाना चेहरा हैं और भाजपा के ऐसे प्रवक्ता के तौर पर पहचाने जाते हैं जो अपने तर्कों से विपक्ष को धुआं धुआं कर देता है लेकिन आज श्रीवास ने एक नेक पहल की. दरअसल बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था की शिकार एक मासूम बच्ची की मदद को वे आगे आए हैं. मामला रायपुर के एम्स अस्पताल का है जहां जशपुर निवासी रूखसाना कुरैशी अपनी चार साल की नन्ही बेटी रिम्सा कुरैशी के साथ इलाज कराने पहुंची है. नन्ही रिम्सा में मिरगी बीमारी के शुरूवाती लक्षण को देखते हुए उनकी मां ने जिले के अस्पताल मंे बेटी का इलाज करवाया लेकिन कोई फायदा नही पहुंचा.

दुर्भाग्य देखिए कि ईलाज होना तो दूर, बच्ची के एक पैर ने पूरी तरह से काम करना बंद कर दिया है और अब एम्स के डाॅक्टर ने भी पैर काटने की सलाह परिवार को दी है! रिम्शा का परिवार बेहद गरीब है और इस जंग की लड़ाई में उसकी मां अकेली ही लड़ रही है. तमाम तरह के जांच और पैसों की तंगीं ईलाज में सबसे ज्यादा आडे़ आ रही है. फिर भी मां ने उम्मीद नही छोड़ी है.



मामले की जानकारी मिलते ही भाजपा नेता गौरी शंकर श्रीवास फौरन एम्स पहुंचे तथा पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद प्रदान की! पीड़िता की मां ने बताया कि जशपुर के बाद रांची भी वो गयी थी लेकिन वहां भी डाक्टर ने हाथ खड़े कर दिए लेकिन मैं आखिरी सांस तक अपनी बेटी के लिये लडूंगी. इस दौरान बच्ची की मां ने रायपुरवासियों से मदद की गुहार लगाई है. श्रीवास ने भी सोशल मीडिया पर परिवार की व्यथा को डाला तो कई लोग मदद के लिए सामने आ गए हैं. उम्मीद है कि नन्हीं रिम्शा जल्द ही खुशहाल जीवन जीने लगेगी.