breaking news New

सात दिवसीय विशेष शिविर के तृतीय दिवस स्वयंसेवकों ने निकाली जागरूकता रैली

सात दिवसीय विशेष शिविर के तृतीय दिवस स्वयंसेवकों ने निकाली  जागरूकता रैली


भानुप्रतापपुर। शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सेलेगांव की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई सात दिवसीय विशेष शिविर का तृतीय दिवस कानून व्यवस्था विषय पर पुलिस अधीक्षक  शलभ सिन्हा IpS कानून समाज को सुरक्षित एवं संरक्षित करती है। 

सात दिवसीय विशेष शिविर के तृतीय दिवस ग्राम नरसिंहपुर में स्वयंसेवकों ने प्रातः काल प्रभात फेरी योगासन एवं कोविड-19 वैक्सीनेशन का जागरूकता रैली एवं ग्राम के समस्त नलकूपों पर 8 सोख्ता गड्ढा का निर्माण स्वयंसेवकों ने किया तत्पश्चात दोपहर बौद्धिक परिचर्चा में मुख्य अतिथि के रूप में पुलिस अधीक्षक  शलभ सिंहा आईपीएस के द्वारा कानून व्यवस्था समाज को सुदृढ़ एवं सक्षम बनाने की एक महत्वपूर्ण कड़ी है जिसके बिना समाज की परिकल्पना असंभव है पुलिस अधीक्षक जी ने साइबर सेल के विषय में जानकारी देते हुए छात्रों को उनकी सावधानियां एवं विभिन्न उसके दुष्परिणामों के विषय में सारगर्भित तरीके से छात्रों को संबोधित किया !

साथ ही मोटर व्हीकल एक्ट के संबंध में बच्चों को जानकारी दी साथी जीवन में कोई ना कोई एक लक्ष्य निर्धारित करो जिससे आगे चलकर विभिन्न प्रशासनिक पद या व्यवसाय के क्षेत्र में कृषि के क्षेत्र में संगीत नृत्य या खेल के क्षेत्र में अपने रुचि अनुरूप अपने लक्ष्य को निर्धारित करें जिससे एक बेहतर जीवन और एक परिवारिक जिम्मेदारियों का सही तरीके से निर्वहन कर सकें साथ ही लायन आर्डर के विषय में जानकारी देते हुए कहा कि समाज के हर प्राणी को स्वतंत्र पूर्ण जीवन जीने का अधिकार है !

 उन्होंने एन.एस.एस.के इस आयोजन के लिए आयोजक एवं ग्राम वासियों को बधाई देते हुए कहा एक ओर समाज में विभिन्न विसंगतियों से आज युवा भटक गए हैं परंतु उन्हें अच्छे मार्ग दिखाने के लिए ऐसे सुंदर आयोजन होते रहने चाहिए साथ ही उन्होंने बच्चों को पुलिस की गतिविधियों को जानने के लिए थाना कोरार में जाकर भ्रमण कराने के लिए थाना अध्यक्ष को निर्देशित किया इसके पश्चात थाना अध्यक्ष  महेश साहू ने स्वयंसेवकों को कैरियर के संबंध में कहा संकल्प मनुष्य के लिए उसी प्रकार आवश्यक है जिस प्रकार शरीर में वायु की आवश्यकता होती है तो आप सभी जिस भी क्षेत्र में रुचि रखते हैं चाहे नृत्य होगी तो परंपरिक लोक नृत्य गीत क्या खेल यह प्रशासनिक सेवा में जाना चाहते हैं चाहे उन्नत कृषि की ओर व्यवसाय की ओर अपने लक्ष्य को साध कर उस विषय के अध्ययन को लक्ष्य बनाकर ऊर्जा और आत्मविश्वास के साथ पर परिश्रम करते जाइए उन्होंने कहा कर्मण्येवाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचना हमें निरंतर कर्म करते रहना चाहिए उन्होंने अपने ही जीवन का अनुभव बताया !

उन्होंने कहा मैं दसवीं कक्षा में गणित में सप्लीमेंट्री आया 5 वर्ष अध्यापन को त्यागने के पश्चात मुझे लगा कि मुझे अध्यापन करना चाहिए और फिर उन्होंने अध्यापन किया फिर एक शिक्षक के तौर पर उन्होंने अपना कार्य दायित्व निभाया फिर उन्होंने एक आईटीआई शिक्षक साथियों सैनिक के रूप में सैनिक के रूप में उन्होंने अपना दायित्व निभाया उसके पश्चात आज वह *थाना अध्यक्ष के रूप में नियुक्त हुए हैं तो मेरे जैसे व्यक्ति जो एक विषय में सप्लीमेंट्री आ जाने के बाद भी आज थाना अध्यक्ष के पद पर पहुंच सकता है तो आप सभी पूरी दुनिया को जीत सकते हो इतनी इतनी योग्यता एवं साहस आप सभी के अंदर विद्यमान हैं साथ ही बड़े ही ऊर्जावान वक्तव्य के साथ उन्होंने अपना वक्तव्य स्वयं सेवकों को दिया इस

 उक्त कार्यक्रम में ममता कांगे,लल्ली मंडावी ,आशीष कुमार साहू, हंसराज ठाकुर, यशोदा दर्राे,दुखु  राम उयके, चेेेैतूराम उयके, दयालु राम मरकाम, लखनलाल कैमराे ,सहदेव राम, दीनदयाल , कृपाराम कैमरो, व्याख्याता जागृति ध्रुव यामिनी साहू शिविर संचालक एवं कार्यक्रम अधिकारी हरीश पाण्डेय आदि उपस्थित थे !