breaking news New

फिर सक्रिय होगी ग्राम एवं नगर सुरक्षा समितियां, थाना एवं ग्राम स्तर पर होगा गठन, रात्रि गश्त के साथ ही कानून व्यवस्था के लिए मिलेगा सहयोग

 फिर सक्रिय होगी ग्राम एवं नगर सुरक्षा समितियां, थाना एवं ग्राम स्तर पर होगा गठन, रात्रि गश्त के साथ ही कानून व्यवस्था के लिए मिलेगा सहयोग

रतलाम। जिले में एक बार फिर से गांव और मोहल्लों में ग्राम और नगर सुरक्षा समिति सक्रिय होंगी। समितियों के सदस्य रात्री गश्त के साथ ही कानून व्यवस्था के लिए पुलिस का सहयोग करेंगे ।

एसपी गौरव तिवारी ने बताया कि अपराधों की रोकथाम के लिए पुलिस लगातार सक्रिय रहती है,रात्री गश्त भी करती है, लेकिन पुलिसकर्मियों की संख्या इतनी नहीं है कि एक बार में हर गांव, हर मोहल्ले में पहुंच सके । इसके लिए पुलिस विभाग में बीट सिस्टम लागू किया जा चुका है। अब इसके साथ सभी गांव में रक्षा समितियों को पुन:गठित भी किया जाएगा। इन समितियों में ऐसे लोगों को चुना जाएगा जो स्वेच्छा से पुलिस की मदद करने को आगे आए। साथ ही जिनमें अपराधों को परखने की क्षमता हो। जो रात को पुलिस के साथ गश्त कर सकता हो। जो त्यौहारों, लॉ एडं ऑर्डर या आपात स्थिति में ड्यूटी देने को भी तैयार हों। पुराने समय में समितियों में शामिल रहे लोगों के साथ इच्छुक नए लोगों को भी मौका दिया जाएगा। समिति सदस्यों को आईडी कार्ड भी दिए जाएंगे ताकि उनकी पहचान आसानी से की जा सके।

क्या होगा समिति सदस्यों का काम

-ग्राम रक्षा समिति के सदस्य संबंधित पुलिस अधिकारियों, थाना प्रभारियों के साथ समन्वय रखेंगे।

-समिति सदस्य अपने क्षेत्र में अपराधों पर नजऱ रखेंगे। इसकी सूचना वे पुलिस को साझा करेंगे।

-समिति सदस्य जरूरत अनुसार रात्रि गश्त, नाके पर ड्यूटी, त्यौहारों, धार्मिक-सामाजिक आयोजनों में ड्यूटी देंगे।

-समिति सदस्य पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों के निर्देश पर जन जागरुकता कार्यक्रमों में भाग लेंगे।