breaking news New

हुई बारिश, 40 डिग्री से नीचे आया प्रदेश का अधिकतम तापमान

 हुई बारिश, 40 डिग्री से नीचे आया प्रदेश का अधिकतम तापमान
 
रायपुर। छत्तीसगढ़ में गुरुवार-शुक्रवार को हुई बरसात से लोगों को चिलचिलाती गर्मी से बड़ी राहत मिली है। शनिवार को भी रायपुर सहित कुछ जिलों में हल्की बरसात दर्ज हुई है। इस बीच प्रदेश का औसत अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से नीचे उतर आया है। कई स्थानों पर यह सामान्य से 2 डिग्री तक कम मापा गया है।
राजधानी रायपुर में शनिवार दोपहर बाद तेज हवाओं के साथ बादलों की गर्जना शुरू हुई। आसपास के कुछ जिलों में भी ऐसे ही हालात बने। शाम तक एक-दो स्थानों पर गरज-चमक के साथ हल्की बरसात हुई। बस्तर के कई क्षेत्रों में बूंदाबादी की खबर है। मौसम विभाग ने बस्तर के नारायणपुर जिले में 8 मिलीमीटर बरसात होना बताया है। रायपुर में अभी भी बादल छाये हुए हैं। उत्तर और उत्तर पश्चिम से 14.7 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार वाली हवा बह रही है। जगदलपुर में भी 11.1 किमी प्रति घंटा की रफ्तार वाली उत्तर-पश्चिमी हवाएं चल रही है। वहीं बिलासपुर में 9.3 किमी प्रति घंटे की रफ्तार वाली दक्षिणी-पश्चिमी हवा का बहना जारी है। दुर्ग में भी 9.3 किमी प्रति घंटे की रफ्तार वाली पूर्वी रुख वाली हवा चल रही है। इसके उलट अंबिकापुर और पेण्ड्रा में हवा नहीं चल रही है। इसकी वजह से आम लोगों के लिए रात थोड़ी राहत भरी हो गई है।
ऐसा है प्रमुख शहरों का अधिकतम तापमान
रायपुर-39.2, बिलासपुर- 41.4, पेण्ड्रा - 39.1, अंबिकापुर-39.2, दुर्ग -39.9, राजनांदगांव- 38.9, जगदलपुर-37
तापमान सामान्य से कम भी पहुंचा
मौसम में आए बदलाव की वजह से अधिकतम तापमान सामान्य या सामान्य से भी कम पहुंच गया है। रायपुर में यह सामान्य से 2 डिग्री सेल्सियस तक कम है। वहीं जगदलपुर और दुर्ग में भी इसे सामान्य से एक डिग्री कम मापा गया है। राजनांदगांव में अधिकतम तापमान सामान्य है। जबकि बिलासपुर, अंबिकापुर और पेण्ड्रा रोड में अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक बना हुआ है।
कल से फिर गर्म होगा मौसम, बरसाती छींटे भी
मौसम विभाग का कहना है, उत्तर-पूर्व मध्य प्रदेश और उससे लगे छत्तीसगढ़ के इलाकों के ऊपर एक ऊपरी हवा का चक्रवाती घेरा बना हुआ है। प्रदेश के उत्तरी क्षेत्रों में उत्तरी और दक्षिणी क्षेत्रों में दक्षिणी हवा का आना अब भी जारी है। ऐसे में 24 अप्रैल को प्रदेश के अधिकतम और न्यूनतम तापमान में वृद्धि होने की संभावना बन रही है। विपरीत हवाओं का मिलन क्षेत्र होने की वजह से रविवार को भी अंधड़ के साथ एक-दो स्थानों पर बरसात की संभावना बन रही है। इसका क्षेत्र मुख्य तौर पर दक्षिण छत्तीसगढ़ यानी बस्तर संभाग ही बताया जा रहा है।