breaking news New

जिलाध्यक्ष-शंकर साहू के नेतृत्व में फेडरेशन द्वारा मानपुर BEO कार्यालय में तालाबंदी व सत्याग्रह आंदोलन का हुआ बड़ा असर, मांगें हुई पूरी

जिलाध्यक्ष-शंकर साहू के नेतृत्व  में फेडरेशन द्वारा मानपुर BEO कार्यालय में तालाबंदी व सत्याग्रह आंदोलन का हुआ बड़ा असर, मांगें हुई पूरी

राजनांदगांव।  छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक  फेडरेशन के प्रदेश अध्यक्ष-मनीष मिश्रा, राजनांदगांव जिलाध्यक्ष- शंकर साहू व मानपुर के  ब्लॉक अध्यक्ष- यशवंत देशमुख ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि जिला शिक्षा अधिकारी-राजनांदगांव द्वारा  सोमवार को  04 सूत्रीय  मांगों को पूरा करने के लिए विकासखंड शिक्षा अधिकारी- मानपुर को आदेशित किया गया था।   मांगों को पूरा करने हेतु आवश्यक कार्यवाही कर संपूर्ण जानकारी फेडरेशन के जिलाध्यक्ष-शंकर साहू व  ब्लॉक अध्यक्ष-मानपुर  देने कहा गया था,लेकिन  लगभग 14 माह बीत जाने बाद भी किसी भी प्रकार से विकासखण्ड शिक्षाधिकारी-मानपुर द्वारा जानकारी न देकर अपने उच्च अधिकारी के आदेशो की अवहेलना किया था।


जिससे पूरे छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन ब्लॉक इकाई- मानपुर के सहायक शिक्षक संवर्ग काफी आक्रोशित थे।मंगलवार को  आंदोलन के दौरान फेडरेशन के सैंकड़ों साथियों ने मांगें पूरी करने हेतु  विकासखण्ड शिक्षाधिकारी के खिलाफ नारे लगाकर तालाबंदी व सत्याग्रह आंदोलन   किया,जिसका व्यापक असर हुआ और फेडरेशन के प्रतिनिधिमंडल को विकासखण्ड शिक्षाधिकारी द्वारा मांगों को निर्धारित समय मे पूरा करने जैसे-ब्लॉक स्तर पर परामर्श दात्री की प्रत्येक 03 माह में बैठक आयोजित करने,कुछ शिक्षकों की लंबित CPF कटौती की राशि खाते में जमा करने,सेवा पुस्तिका संधारण करने,CPF कटौती हेतु पासबुक संधारण करने,ब्लॉक के 04 सहायक  शिक्षकों के आकस्मिक निधन होने वाले परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति हेतु प्रस्ताव  जिला कार्यालय-राजनांदगांव भेजने,पूर्व में लंबित चिकित्सा अवकाश/प्रसूति अवकाश की राशि जमा करने,वरिष्ठता सूची प्रदान करने,उच्च परीक्षा व कार्योत्तर अनुमति प्रदान करने पर सहमति बनी तथा पूर्व में लंबित एरियर्स राशि,लंबित मंहगाई भत्ता,समान पद से समान व समान पद से उच्च पद की एरियर्स राशि शासन से आबंटन आने पर भुगतान करने की बात विकासखण्ड शिक्षाधिकारी-मानपुर द्वारा लिखित में दिया गया,तथा आगामी 30 अक्टूबर 2020 को BEO कार्यालय में परामर्श दात्री की बैठक करने पर सहमति बनी।


कार्यक्रम के दौरान फेडरेशन के प्रदेश अध्यक्ष-मनीष मिश्रा, प्रदेश प्रवक्ता-विकास मानिकपुरी, प्रदेश महासचिव-प्रेमलता शर्मा, प्रदेश महामंत्री-राजकुमार यादव,राजनांदगांव जिलाध्यक्ष- शंकर साहू व जिला संयोजक-भक्ता राम मंडावी ब्लॉक संरक्षक-शिवेंद्र यादव,ब्लॉक अध्यक्ष-यशवंत देशमुख,उपाध्यक्ष-नवीन ठाकुर,सचिव-शेखर ठाकुर,कोषाध्यक्ष-नरेन्द्र मानिकपुरी,जिला महामंत्री-लता पटवा ने आगे बताया कि छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन हमेशा शिक्षकों की हक व अधिकार की लड़ाई लड़ता है तथा आगामी 28 अक्टूबर 2020 को राजधानी रायपुर में "वेतन विसंगति दूर करने" व "क्रमोन्नत वेतनमान" की मांग को लेकर एक दिवसीय मौन सत्याग्रह आंदोलन कर मुख्यमंत्री निवास तक पैदल मार्च निकाल कर मांगों को पूरा कराने हेतु  मुख्यमंत्री-भुपेश बघेल जी को  ज्ञापन सौंपा जायेगा।  

विकासखण्ड शिक्षाधिकारी कार्यालय की तालाबंदी व सत्याग्रह आंदोलन में प्रमुख रूप से छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन के प्रदेश अध्यक्ष मनीष मिश्रा, प्रदेश प्रवक्ता विकास मानिकपुरी,प्रदेश महासचिव प्रेमलता शर्मा,प्रदेश महामंत्री राजकुमार यादव,फेडरेशन के राजनांदगांव जिलाध्यक्ष- शंकर साहू, जिला संयोजक भक्ता राम मण्डावी,जिला मीडिया प्रभारी-रंजीत ध्रुवे, महिला प्रकोष्ठ के ट्राईबल विभाग प्रभारी-जंत्री ठाकुर,जिला उपाध्यक्ष-कुशल हदगिया,ब्लॉक अध्यक्ष मानपुर- यशवंत देशमुख, ब्लॉक संरक्षक शिवेंद्र यादव, ब्लॉक उपाध्यक्ष नवीन ठाकुर, ब्लॉक सचिव शेखर ठाकुर,ब्लॉक महामंत्री-नंदकिशोर साहू,ब्लॉक कोषाध्यक्ष नरेंद्र मानिकपुरी,जिला महासचिव-शिवशंकर कोर्राम,राजेन्द्र साहू,जिला संयुक्त महामंत्री-मितेन्द्र बघेल,मनोज कुमार दामले,महिला प्रकोष्ठ की जिला महासचिव-लता पटवा,ब्लॉक अध्यक्ष मोहला सुनील शर्मा, कार्यकारी ब्लॉक अध्यक्ष खैरागढ़ नंदकिशोर सिमकर, ब्लॉक अध्यक्ष डोंगरगांव पारख प्रकाश साहू,जिला कार्यकारिणी सदस्य-दिनेश कुमार उसेंडी,राजेश देवांगन,चंद्रशेखर विजयवार,भरत भोपले,नागेश साहू,सत्यकुमार घावड़े, दुर्गेश मालेकर,गुलाब देवांगन, बोधन लाल सलामें, छगन लाल तारमे, देवसिंह तुलावी,राजकुमार देवांगन, तुकाराम साहू, चितेश्वर साहू, राजेंद्र मेश्राम, प्रह्लाद सिंह निर्मल, योगेश मानकर, मूलचंद बांधेय, गणेशराम कोड़ापे, भगत सिंह जमदार,रुपेश कुमार कुल्हारे, प्रमोद कुमार वर्मा ,रामलाल मंडावी,टी.डी.मानिकपुरी, श्रीमती डी. ठाकुर, शारदा खुटियमे, शशिप्रभा पाथरे, भगेश्वरी भुआर्य, अगसिया भुआर्य,लेखा आर्य,रिसम पाल ठाकुर आदि उपस्थित थे।