breaking news New

बारना में पंचायत प्रतिनिधियों के संरक्षण में चल रहा रेत परिवहन कार्य जोरो पर,पारी अनुसार प्रतिनिधियों द्वारा पैसा लेने का वीडियो आया सामने

बारना में पंचायत प्रतिनिधियों के संरक्षण में चल रहा रेत परिवहन कार्य जोरो पर,पारी अनुसार प्रतिनिधियों द्वारा पैसा लेने का वीडियो आया सामने


अभिमन्यु नेताम,कुरुद
कुरुद/धमतरी:-धमतरी जिला अवैध रेत के मामले में हमेशा सुर्खियों में रहा है.बीते दिनों भी जिले के एक ग्राम पंचायत का वीडियो में पंचायत पदाधिकारी द्वारा पैसा लेकर रेत से भरे ट्रैक्टरों की निकासी का मामला सामने आया था.जिसे जनधारा समाचार ने प्रमुखता से रखा था.वही वर्तमान में सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ग्राम बारना में इन दिनों पंचायत पदाधिकारी के संरक्षण में अवैध रेत परिवहन कराया जा रहा जिसका वीडियो जमकर सोशल मीडिया में वायरल हो रहा विश्वस्नीय सूत्रों ने बताया है कि ग्राम पंचायत बारना में अवैध रेत का परिवहन पंचायत पदाधिकारियों के संरक्षण में हो रहा जिसमे प्रति ट्रेक्टर ट्रिप में 200 रुपये की वसूली किया जा रहा जिसका किसी प्रकार से दस्तावेज नही दिया जा रहा उल्टा खनिज विभाग के आने पर सभी लोग भाग खड़े होते है.वही कुछ गाड़ी ड्राइवरो का भी कहना है कि पैसा तो हम दे देते है क्योंकि जरुरत के लिए रेत ले जाते है लेकिन बिना कागजात बीच मे ले जाते है तो खनिज विभाग पकड़ता है तो पंचायत का दस्तावेज नही दिखाने पर उल्टे कार्यवाही का शिकार होने की बात कही वही खनिज विभाग पर आरोप लगाते हुए कहा कि विभाग को खदान में जाने की बदले यह लोग अचानक रास्ते मे हीं पकड़ कर कार्यवाही करते है जिसके चलते पंचायतों के साथ सांठ गाठ होना बताया गया!

गौरतलब हो कि 15 जून से छत्तीसगढ़ शासन ने रेत परिवहन व खनन पर रोक लगा दिया है बावजूद बारना के जनप्रतिनिधियों द्वारा स्वार्थ पूर्ति के लिए रेत का खनन व परिवहन स्वयं की उपस्थिति में कराया जा रहा है! वही खनिज विभाग द्वारा बारना रेत खदान का नीलामी किसी कारणवश नही पाया था.जिसके चलते यह खदान चोरी छुपे प्रतिनिधियों द्वारा लॉककडाउन को छोड़कर लगभग 2 से 3 माह तक लगातार जारी है.वही आज तक यहाँ खनिज विभाग की नजर नही पड़ी यह भी सोचनीय विषय है.जिसके चलते प्रतिनिधियो का कार्य बुलंद होता जा रहा या खनिज विभाग भी गांव के बाहर कभी कभार खानापूर्ति को कार्यवाही करता जिससे सांठगांठ की भु आ रही है!

रेत खनन पर ग्रामीणों का कहना है कि यहाँ लगातार जारी है.वही जनप्रतिनिधियों सहित प्रशासन व ग्राम के कुछ लोग जुड़े है जिसके चलते कार्यवाही नही होता न ही खनिज विभाग शोर संदेश लेने आते है.वही गांव के कुछ ट्रेक्टर संचालको द्वारा गांव में ही रेत ले जाने पर पैसे की माग करते है नही दिए जाने पर रेत खाली करवाने की व रात में कुछ प्रतिनिधियों द्वारा घर जाकर पैसा वसूल करने दबाव डालने की शिकायत मिली है.वही नही देने पर रेत चोरी करने की शिकायत पुलिस थाने में करने की धमकी दिया जाता है जिसका एक शिकायत यहाँ से कुरुद थाने में 12.05.2021 को शिक़ायत में नोटिश धारा 160 के तहत शिकायत जांच के लिए एक व्यक्ति को थाने में बुलाया गया था.

मामले को लेकर हमने पंचायत सचिव मणि साहू से पक्ष लिया तो उनका कहना है कि रेत खनन व परिवहन होता है लेकिन कौन करा रहा इसकी जानकारी उनको नही है.वही खनिज विभाग से भी मामले को लेकर संपर्क किया गया लेकिन संपर्क नही हो पाया !