breaking news New

मूलभूत सुविधाओं से जूझ रहा है करोड़ों का जिला अस्पताल

मूलभूत सुविधाओं से जूझ रहा है करोड़ों का जिला अस्पताल

दंतेवाड़ा। दंतेवाड़ा नक्सल प्रभावित क्षेत्र में जिला मुख्यालय में करोड़ों की लागत से बनाए जिला अस्पताल में जिला प्रशासन ने करोड़ों रुपए खर्च किए परंतु जिला अस्पताल की लाचार व्यवस्था के कारण सुविधाओं के नाम पर कुछ नहीं। नक्सल प्रभावित क्षेत्र दूरदराज के गांव वालों को मूलभूत सुविधा नहीं मिल पा रही है पुणे सिटी स्कैन के लिए जिला अस्पताल दो किलोमीटर दूर जाना पड़ रहा है पेशेंट को स्ट्रक्चर से ले जाने वाला वार्ड बॉय तक नहीं मरीज को परिजनों को खुद स्ट्रक्चर में ढोला कर ले जाना पड़ रहा है। 

संविदा कर्मचारी संदिप पटेल वर्जन वर्जन

जिला अस्पताल संविदा कर्मचारी संदिप पटेल जो कि मोर्चरी में पीएम के कर्मचारी ने बताया कि पिछले 1 साल से मसूरी में गैस नहीं होने के कारण एक ही फ्रिजर से काम चलाया जा नक्सल प्रभावित क्षेत्र होने के कारण यहां कभी भी कोई भी घटना हो सकती है जिसके लिए जिला अस्पताल ने कोई व्यवस्था नहीं की है हमें समय पर वेतन भी नहीं मिलता

 जिला अस्पताल धोबी कर्मचारी  त्रिलोचन कौशल ने बताया कि धोबी घर में पिछले 1 साल से मशीन खराब होने के कारण कपड़ों और चादर बेडशीट को डेली छोटी सी मशीन में धोना पड़ता है जिसमें बहुत सीधी का तो का सामना करना पड़ता है 100 बेड का जिला अस्पताल से डेली बहुत से कपड़े निकलते हैं। मशीन खराब होने की शिकायत कई बार की जा चुकी है पंरतु अब तक अधिकारीयों ने कोई ध्यान नहीं दिया

जिला अस्पताल में कार्यरत 108के कर्मचारी सुरेंद्र ठाकुर ने भी अपनी व्यथा बताई सुरेंद्र ठाकुर ने बताया कि 108 में दुरदराज से जब एक्सीडेंटल कैसे सोते हैं तो जिला अस्पताल में पेशेंट को स्ट्रक्चर से ले जाने के लिए कोई वार्ड बॉय तक नहीं होता है।