आगे बढ़ेगा लॉकडाउन, स्कूल-कॉलेज, अफसरों के ट्रांसफर ,धार्मिक आयोजनों पर पूरी तरह होगी रोक

आगे बढ़ेगा लॉकडाउन, स्कूल-कॉलेज, अफसरों के ट्रांसफर ,धार्मिक आयोजनों पर पूरी तरह होगी रोक

नईदिल्ली। महामारी कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों देखते हुए सरकार ने   14 अप्रैल को खत्म हो रहे लॉकडाउन को आगे बढ़ाने पर विचार कर रही है।   फिलहाल अभी एक हफ्ते का समय बाकी है, लेकिन लोगों के मन में सवाल है कि क्या लॉकडाउन बढ़ाया जाएगा या फिर 14 अप्रैल तक ही रहेगा। राज्य सरकारों और विशेषज्ञों ने केंद्र सरकार से लॉकडाउन को और आगे बढ़ाने की अपील की है।  

जानकारी के अनुसार  जून तक स्कूल और धार्मिक आयोजनों पर पूरी तरह से रोक बढ़ाने पर फैसला हो सकता है।  वहीं, अफसरों के ट्रांसफर भी 6 महीने तक टाले जाने की संभावना है। 

सरकारी  सूत्रों के अनुसार  कई राज्य सरकारों और विशेषज्ञों ने केंद्र सरकार से लॉकडाउन को और आगे बढ़ाने की अपील की है।  केंद्र सरकार इस बारे में विचार कर रही है।  प्रधानमंत्री द्वारा गठित उच्च स्तरीय समितियों के समक्ष कई राज्यों ने अपनी प्रतिक्रियाएं भेजी हैं, जिसमें राज्यों ने लॉकडाउन के विस्तार की सिफारिश की है। 

राज्यों ने कहा कि सभी प्रकार की धार्मिक गतिविधियों पर पूर्ण प्रतिबंध लगाना जरुरी  है, इसके अलावा  प्रतिबंध सभी धर्मों के लिए लागू हो और इसमें कोई छूट नहीं होनी चाहिए।  राज्यों का यह भी कहना है कि स्कूल और कॉलेज बिना किसी अपवाद के जून तक बंद रखने होंगे। 

लॉकडाउन में  होटल, रेस्टोरेंट और बार पूरी तरह से  बंद होंगे।  जब तक स्थिति में सुधार नहीं होता तब तक शादियों, अंतिम संस्कारों, कॉर्पोरेट टाउन हॉल बैठक जैसे सार्वजनिक कार्यों को लॉकडाउन के तहत बंद रहना चाहिए। सरकारी क्षेत्र में सभी स्थानांतरण और पोस्टिंग को छह महीने के लिए टाल दिया जाएगा। 

chandra shekhar