breaking news New

कोरोना काल में बालोद जिले के अधिकारी व अन्य कर्मचारी कर रहें है जनसेवा का कार्य..!

कोरोना काल में बालोद जिले के अधिकारी व अन्य कर्मचारी कर रहें है जनसेवा का कार्य..!

बालोद डौण्डी लोहारा, 28 मई।  कोरोना संक्रमण की इस भयानक स्थिति में एक ओर जहाँ कई अधिकारी, कर्मचारी अपने कर्तव्य निर्वहन करते हुए वायरस के संक्रमण से अपनी जान गवां दी, वहीं दूसरी ओर बालोद जिले के अधिकारी कर्मचारी जनसेवा करने में लगे हुए हैं।

कोविड केयर सेंटर के नोडल अधिकारी श्री अभिषेक दीवान (Dy. Collector) जो कि रात रात भर जाग कर कोविड मरीजो की रिपोर्ट लेते रहते हैं व उनके परिजनों से भी चर्चा करते रहते है और यदि मरीज़ के परिजन उन्हें किसी भी वक़्त कॉल करे तो वे उनकी सारी मदद करते हैं। इसके अलावा इनके द्वारा जरूरत मंद लोगों के लिये सूखा राशन भी उपलब्ध कराते हैं।

बालोद एसडीएम राम सिंह ठाकुर लगातार ग्रामीण क्षेत्रो का दौरा कर ग्रामीणों को टीकाकरण के लिए प्रेरित कर रहे है वही गांव गांव जाबो सब ला जगाबो और कोरोना मुक्त गांव बनाबो के थीम पर लोगो को कोरोना के प्रति जागरूक कर रहे है।


एसडीएम राम सिंह ठाकुर

इसी क्रम में बालोद तहसीलदार रश्मि वर्मा के द्वारा भी ग्राम मटिया बी व जमरूवा में जरूरतमंद महिलाओं को राशन दिया गया गया। इस हेतु इस हेतु गांव की महिलाओं में उन्हें धन्यवाद दिया। रश्मि वर्मा जी शुरू से प्रशासनिक क्रियाकलापों के साथ साथ जनसेवा में भी सक्रिय भूमिका निभाते आयीं है।

डौंडी लोहारा तहसीलदार रामरतन दुबे जी व उनकी टीम गाँव गाँव मे जाकर सूखा राशन वितरण कर रही है। जिसमें नायब तहसीलदार सुश्री राजश्री पांडे, आर आई देवांगन जी व लोहारा पटवारी पिस्दा जी का विशेष सहयोग शामिल है।

कोरोना संक्रमण की भयावह स्थिति में उम्मीद का पर्याय बनी “भावना फाउंडेशन”: कर रहे हैं निःशुल्क जनसेवा

इसके साथ ही नोडल अधिकारी, तहसीलदार व नायब तहसीलदार के द्वारा जनसेवा में लगे NGO व अन्य संस्थाओं की भी मदद की जा रही है जिस हेतु संबंधित संस्था प्रमुखों ने श्री दुबे जी व सुश्री पांडे जी का सहयोग हेतु सादर आभार व्यक्त किया है और कहा कि आप सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को बहुत बहुत धन्यवाद।

रामरतन दुबे जी व एक संस्था के सहयोग से ग्राम चिल्हाटी में दो परिवारों को सुखा राशन समान कराया गया, उनका राशन कार्ड में कुछ समस्या थी, जिसे  श्री आशुतोष सर (राजनांदगांव-नगर निगम कमिश्नर) की मदद से उनका राशन कार्ड  राजनांदगांव से तुरंत हटा कर चिल्हाटी में दर्ज कराया गया।कुछ महिलाओं को सूखा राशन की आवश्यकता थी जो अकेले जीवन यापन कर रही थी, जिसकी जानकारी मिलते है सूखा राशन उपलब्ध कराया गया। इसके साथ ही सेमरडीह, रायपुरा व कामता में भी स्थानीय संस्था के साथ मिलकर जरूरतमंद लोगों को राशन वितरण किया गया।

यूपी में सामने आए पीले फंगस के मामले: जानिए क्यों यह काले, सफेद फंगस से ज्यादा खतरनाक साबित हो सकता है

बालोद जिले के अधिकारी कर्मचारी व उनकी टीम के द्वारा कोरोना काल में नगर सहित आसपास के क्षेत्रों का निरंतर दौरा किया जा रहा है, जहाँ पर उनके द्वारा लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करने वालों पर लगातार चालानी कार्यवाही की जा रही है, साथ ही जरूरमंद लोगों की सहायता भी की जा रही है। अपने दौरे के दौरान उनके द्वारा लोगों को शासन के दिशा निर्देशों का पालन करने व कोरोना वैक्सीनेशन हेतु जागरूकता भी फैलायी जा रही है।