breaking news New

दीदी और मोदी में जंग, लाखों की भीड़ के बीच पुरुलिया में गरजे पीएम

दीदी और मोदी में जंग, लाखों की भीड़ के बीच पुरुलिया में गरजे पीएम

कोलकाता । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को चुनाव प्रचार प्रसार की पुरुलिया से शुरुआत की। इस दौरान उन्होंने भगवान श्रीराम का जिक्र किया और कहा कि ये धरती भगवान राम और मां सीता के वनवास की भी साक्षी रही है। यहां अजुध्या पर्वत है, सीता कुंड है और अजुध्या नाम से ग्राम पंचायत है। कहते हैं कि जब मां सीता को प्यास लगी थी, तो राम जी ने जमीन पर बाण मारकर पानी की धारा निकाल दी थी। उन्होंने कहा कि पुरुलिया में आज पानी का संकट बहुत बड़ी समस्या है। यहां के किसानों को और आदिवासी भाई-बहनों को सही से खेती करने के लिए भी पानी नहीं मिलता है।
पीएम मोदी ने ममता सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कम पानी की वजह से पशुओं को पालने में जो दिक्कत होती है उसें मैं भलीभांति जानता हूं। खेती-किसानी को उनके हाल में छोड़कर तृणमूल सरकार अपने खेल में लगी रही। इन लोगों ने पुरुलिया को जल संकट और पलायन से भरा जीवन। उन्होंने कहा कि इन लोगों ने पुरुलिया की पहचान देश के सबसे पिछड़े क्षेत्र के तौर पर बनाई है।
डबल इंजन की बनेगी सरकार
उन्होंने कहा कि बंगाल में भाजपा सरकार बनने के बाद आपकी दिक्कतों को प्राथमिकता के आधार पर दूर किया जाएगा। जब बंगाल में डबल इंजन की सरकार बनेगी, तो यहां विकास भी होगा और आपका जीवन भी आसान बनेगा। उन्होंने कहा कि यहां के जैसा ही जल संकट देश के अन्य जगहों पर भी रहा है। जहां-जहां भाजपा को सेवा का मौका मिला, वहां सैकड़ों किमी लंबी पाइप लाइन बिछाई गई, तालाब बनाए। वहां अब जल संकट दूर हो रहा है। वहां के किसान अलग-अलग फसलों को उगाने लगे हैं।
उन्होंने कहा कि 2 मई को जब यहां पर भाजपा की सरकार बनेगी तो ऐसी व्यवस्था की जाएगी कि पुरुलिया के लोगों को पलायन का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा कि कौशल विकास पर और ज्यादा फोकस किया जाएगा। यहां के हस्तशिलपियों को मान-सम्मान से जुड़ी दूसरी सुविधा मिले यह सुनिश्चित किया जाएगा।  
उन्होंने कहा कि मैं आपका दुख दिल्ली में रहकर भी भलीभांति समझता हूं। इसलिए इसे दूर करने का  भरोसा आपको दे रहा हूं। मैं जानता हूं यहां के युवाओं का हक तुष्टीकरण के नाम पर छींनकर किसी और को दे दिया गया।
उन्होंने कहा कि ओबीसी समुदाय से आने वाले मेरे भाई-बहनों के साथ यहां पर विश्वासघात किया गया है। मां, माटी और मानुष की बात करने वाली ममता दीदी को अगर आदिवासियों के प्रति ममता होती तो वह ऐसा नहीं करतीं।  
ममता दीदी कह रही हैं खेला होबे
पीएम मोदी ने कहा कि आपका उत्साह दिखा रहा है कि तृणमूल की पराजय तय है और इस बार बंगाल में सिंडीकेट वालों की पराजय होगी। इस बार बंगाल के चुनाव में कटमनी वालों की पराजय होगी। इस बार बंगाल के चुनाव में तोलाबाजों की पराजय होगी। पश्चिम बंगाल में तृणमूल के दिन अब गिनती के ही रह गए हैं और यह बात ममता दीदी भी अच्छी तरह से समझ रही है। इसीलिए वह कह रही हैं- खेला होबे  
भाजपा बोले शिक्षा होबे
पीएम मोदी ने कहा कि दीदी बोले खेला होबे, भाजपा बोले सोनार बांग्ला होबे, दीदी बोले खेला होबे, भाजपा बोले विकास होबे, दीदी बोले खेला होबे, भाजपा बोले शिक्षा होबे, दीदी बोले खेला होबे, भाजपा बोले महिला का उत्थान होबे।