breaking news New

डाँ महंत रामसुंदर दास ने कहा -राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना राम वनगमन पर्यटन परिपथ

 डाँ महंत रामसुंदर दास ने कहा -राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना राम वनगमन पर्यटन परिपथ

 सक्ती जांजगीर।   जिले की धार्मिक नगरी नगर पंचायत शिवरीनारायण में आज रामवन गमन परिपथ स्थल पर दो दिवसीय भजन गायन और रामकथा कार्यक्रम का आयोजन किया गया। छत्तीसगढ़ राज्य गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष डॉक्टर महंत रामसुंदर दास  आज प्रथम दिन आयोजित  भजन कार्यक्रम में शामिल हुए।

      डाँ महंत ने इस अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि राम वनगमन पर्यटन परिपथ राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है। छत्तीसगढ़ वासियों के लिए भगवान राम केवल आस्था ही नहीं बल्कि भांजे के रूप में भी पूजनीय हैं। पर्यटन परिपथ में कोरिया से लेकर सुकमा तक लगभग 1440 किलोमीटर के पथ में 75 स्थलों का चिन्हांकन किया गया है। प्रथम चरण में 9 स्थलों के विकास का बीड़ा राज्य सरकार ने उठाया है। इनमें सीतामणी हरचौका, रामगढ़, शिवरीनारायण, तुरतुरिया, चंदखुरी, राजिम, सिहावा, जगदलपुर और रामाराम ( सुकमा) शामिल हैं। उन्होंने बताया कि राम वनगमन पर्यटन परिपथ के महत्वपूर्ण पड़ाव और महानदी, शिवनाथ और जोंक नदी के संगम पर स्थित शिवरीनारायण में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने रामायण की थीम के अनुरूप करोड़ों रुपए की लागत के विभिन्न विकास कार्य कराए जा रहे हैं। 

भजन गायिका कावरी यादव के गायन ने सभी को किया मंत्रमुग्ध-

 कार्यक्रम के प्रथम दिन शिवरीनारायण की प्रसिद्ध भजन गायिका कुमारी कावेरी यादव ने भगवान राम और कृष्ण के भजन से लोगों का मन मोह लिया ।कुमारी कावेरी की मधुर आवाज और वाद्य यंत्र में संगत करने वाले कलाकारों ने मनभावन भजन की प्रस्तुति दी । कुमारी कावेरी इंदिरा संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ में स्नातकोत्तर  संगीत विषय की अंतिम वर्ष की छात्रा है। 

गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष डॉक्टर रामसुंदर दास महंत  ने कुमारी कावेरी और वाद्य यंत्र में संगत करने वाले उनके पिता श्री रघुनाथ यादव, सुरेंद्र श्रीवास सहित सभी कलाकारों का शाल श्रीफल भेंट कर सम्मान किया। 

     इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष  यनीता चंद्रा,  उपाध्यक्ष  राघवेंद्र प्रताप सिंह,  दिनेश शर्मा, एसडीएम  मेनका प्रधान, शिवरीनारायण नगर पंचायत के जनप्रतिनिधि पार्षद गणमान्य नागरिक मीडिया प्रतिनिधि और शहरवासी उपस्थित थे।