breaking news New

साइबर ठगी के लगातार बढ़ते मामले स्मार्ट पुलिसिंग की जुमलेबाजी

साइबर ठगी के लगातार बढ़ते मामले स्मार्ट पुलिसिंग की जुमलेबाजी

रायपुर । भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने प्रदेश में तमाम अपराधों के साथ ही अब लगातार सामने आ रहे साइबर अपराधों को लेकर प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधते हुए कहा है कि एक माह  में ही साइबर ठगी के लगभग दजऱ्नभर से अधिक मामले दजऱ् होने के बावज़ूद अपराधियों का क़ानून के राज को धता बताकर खुला घूमना स्मार्ट पुलिसिंग की जुमलेबाजी में मशगूल प्रदेश सरकार और पुलिस तंत्र की विफलता का परिचायक है।
नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने भाजपा सांसद (राज्यसभा) रामविचार नेताम के साथ शुक्रवार को घटित साइबर ठगी के मामले को प्रदेश सरकार और पुलिस प्रशासन पर हमलावर होते हुए कहा कि प्रदेश में न तो ज़मीनी अपराधों पर रोक लग पा रही है और न ही साइबर अपराधों के आरोपियों तक पुलिस पहुँच पा रही है, जिसके कारण अपराधियों के हौसले बुलंद हो चले हैं। श्री कौशिक ने कटाक्ष किया कि लोगों को सुरक्षित व निर्भीक वातावरण में मुहैया करा अपराधमुक्त प्रदेश बनाने के बजाय प्रदेश सरकार ने  छत्तीसगढ़ अपराधगढ़ बनाकर रख दिया है। प्रदेश की राजधानी में ही साइबर ठगी मामले रोज सामने आ रहे हैं, जिससे यह प्रतीत हो रहा है कि प्रदेश सरकार और पुलिस प्रशासन की बेरुख़ी के चलते राजधानी अब ठगों की मंडी बनती प्रतीत हो रही है और छत्तीसगढ़ इन मामलों में एक नया जामतारा बन रहा है। झारखंड प्रदेश का जामतारा साइबर ठगी के मामलों में काफी कुख्यात है। कौशिक ने कहा कि जब प्रदेश सरकार और आला नौकरशाहों की नाक के नीचे साइबर अपराधों का ग्राफ़ इस तेज़ी से बढ़ रहा है तो प्रदेशभर की स्थिति का अनुमान सहज ही लगाया जा सकता है। प्रदेश सरकार अपराधियों में क़ानून के राज का ख़ौफ़ पैदा कर क़ानून व अमन पसंद लोगों को सुरक्षा देने और पसीने की कमाई पर डाले जा रहे डाके को तत्काल फ्रभावी ढंग से रोकने की मांग की है।