breaking news New

खबर का असर : पुणे में फंसे 36 मजदूरों की श्रम विभाग ने ली सुध, आइएएस सोनमणि बोरा ने किया संपर्क, पहुंचाई राहत सामग्री, 7000 लोगों को मिली मदद

खबर का असर : पुणे में फंसे 36 मजदूरों की श्रम विभाग ने ली सुध, आइएएस सोनमणि बोरा ने किया संपर्क, पहुंचाई राहत सामग्री, 7000 लोगों को मिली मदद

रायपुर. छत्तीसगढ़ के विभिन्न शहरों के 36 लोग पुणे, महाराष्ट्र में फंसे हुए हैं. इसकी खबर प्रसारित होते ही श्रम विभाग के सचिव और राज्य के नोडल अफसर, आइएएस सोनमणि बोरा तुरंत एक्शन में आए और मजदूरों से फोन पर संपर्क साधकर उनके लिए जरूरी राहत सामग्री प्रदान की है. श्री बोरा ने उनकी कुशलक्षेम पूछी और राज्य सरकार द्वारा हरसंभव मदद देने का वादा किया. श्री बोरा ने मजदूरों से आग्रह किया है कि लॉकडाउन खत्म होते तक वे वहीं रहें. सरकार उनकी मदद करती रहेगी.

जानते चलें कि चंद घण्टे पहले ही दैनिक आज की जनधारा' ने अपनी वेबसाइट में खबर चलाई थी कि 'छत्तीसगढ़ के 36 लोग पुणे में फंसे, सरकार से लगाई मदद की गुहार. इसके साथ ही हमने मजदूरों की लिस्ट और संपर्क नम्बर भी जारी किया था. इस पर श्रम विभाग के सचिव, आइएएस सोनमणि बोरा ने मानवीय संवेदना के साथ अफसरों को निर्देशित किया और खुद भी उनकी मदद को लग गए.

श्री बोरा ने बताया कि मीडिया जैसे ही समस्याओं को सामने ला रहा है, हम तुरंत उस पर अमल कर रहे हैं. पूरे प्रदेश में अब तक श्रम विभाग ने 7000 से ज्यादा लोगों तक आपातकालीन सेवाएं और मदद पहुंचाई है. राज्य नोडल अफसर के तौर पर श्री बोरा की सतर्कता, गंभीरता और परिणामदायी होने का पता चलता है.

हालांकि कल भी जब हमने हैदराबाद में छत्तीसगढ़ के लोगों के फंसे होने की खबर चलाई तो श्रम विभाग की संयुक्त संचालक सुश्री सविता मिश्रा ने पहल करते हुए मजदूरों की सुध ली थी और उन्हें मदद पहुंचाई थी.