कांग्रेस सरकार में जनहित से जुड़ी योजनाओं को बंद कर दिया गया: शिवराज

कांग्रेस सरकार में जनहित से जुड़ी योजनाओं को बंद कर दिया गया: शिवराज

ग्वालियर।  मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाते हुए आज कहा कि उनकी सरकार में जनहित से जुड़ी तमाम योजनाओं को बंद कर दिया गया था।

सीएम  चौहान ने यह बातें अशोकनगर जिले के मुंगावली विधानसभा के पिपरई, अशोकनगर विधानसभा के राजपुर, ग्वालियर जिले के डबरा विधानसभा के सिसगांव में विकास कार्यों के लोकार्पण और शिलान्यास के अवसर पर आयोजित समारोह में कही। समारोह में वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी संबोधित किया। मुख्यमंत्री ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के हाल ही के ग्वालियर दौरे का जिक्र किया और कहा कि वे हमें लायक नहीं समझतें हैं, लेकिन क्या वे जनहित से जुड़ी विभिन्न योजनाओं को बंद करने अपने आप को लायक समझ रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2018 के चुनाव में जनता ने वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया चेहरा देखकर और उन पर भरोसा करके वोट दिया। लेकिन कांग्रेस ने जनता के इस भरोसे को तोड़ दिया। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि हमने प्रदेश के किसानों को 4000 रुपये किसान सम्मान निधि देने की घोषणा की है। किसानों से वे कहना चाहते हैं कि आप चिंता मत करना, अगर बारिश और बाढ़ के कारण फसल खराब हुई है तो हम उसकी भी भरपाई करेंगे।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना संकट के चलते प्रदेश की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है, लेकिन हम विकास और कल्याण के कामों में पैसे की कमी नहीं आने देंगे। उन्होंने पिपरई उप स्वास्थ्य केंद्र को स्वास्थ्य केंद्र बनाने, साइंस कॉलेज खोले जाने, डबरा विधानसभा क्षेत्र के लिधौरा में बांध बनाने, पिछोर में अगले सत्र से कॉलेज खोलने एवं तहसील बनाने की भी भी घोषणाएं की।

इस मौके पर भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि पिपरई क्षेत्र की जनता से मेरा दिल का नाता है। जो आपने मांगा वो हमने किया, जो आपने नहीं मांगा वो भी दिया। उन्होंने कहा कि श्री चौहान ने 15 वर्षों में जो विकास की लंबी लकीर खींची थी, उससे लंबी लकीर कांग्रेस सरकार ने भ्रष्टाचार की खींच दी।

राजपुर, पिपरई एवं सिसगांव डबरा में प्रदेश शासन के मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा, इमरती देवी, बृजेन्द्र सिंह यादव, आलोक शर्मा, जिलाध्यक्ष उमेश रघुवंशी, विधायक वीरेन्द्र सिंह रघुवंशी, गोपीलाल जाटव, पूर्व विधायक जसपाल सिंह जग्गी, नरेश ग्वाल, लाखन सिंह कटारिया आदि उपस्थित थे।