breaking news New

आमदई खदान बन्द करने जिला प्रशासन को 15 दिनों का दिया गया अल्टीमेटम हुआ समाप्त

आमदई खदान बन्द करने जिला प्रशासन को 15 दिनों का दिया गया अल्टीमेटम हुआ समाप्त

नारायणपुर।  जिले के अबूझमाड़ ब्लाक और नारायणपुर ब्लाक के हजारो ग्रामीण फिर एक बार लामबंध होकर आमदई खदान बन्द करने , नवीन पुलिस केम्प नही खोलने , बेकसूर आदिवासियो को नक्सलियों के नाम पर जेल भेजना बन्द करने जैैसी

 मांगो को लेकर अबूझमाड़ के झारा से हजारों की संख्या में ग्रामीण रैली की शक्ल में नारे लगाते हुए 10 किलोमीटर पैदल चलकर शाम को छोटेडोंगर पहुचे है । इन मांगों को लेकर पहले भी हजारो ग्रामीणों ने छोटेडोंगर से धौड़ाई तक रैली निकाली और 5 दिनों तक चक्काजाम किया था जिसके बाद जिला प्रशासन को मांगो को पूरा करने के लिए 15 दिनों का समय दिया था जो कि अब पूरा हो गया है और जिला प्रशासन द्वारा इस ओर कोई कदम नही उठाया गया जिसके चलते फिर हजारो ग्रामीण प्रदर्शन करने को लामबंध हो गए है । इस कड़ाके की ठंड में ग्रामीण खुले आसमान के नीचे फिर अपनी मांगों को लेकर बैठेंगे ।


 प्राप्त जानकारी के अनुसार अबूझमाड़ के झारा में अबूझमाड़ ब्लाक ओर नारायणपुर ब्लाक के हजारों ग्रामीण एकत्र हुए और आज शनिवार को रैली की शक्ल लेकर आगे बढ़े । 10 किलोमीटर हजारो ग्रामीण जल जंगल जमीन हमारा है , आमदई खदान को नही देंगे , नवीन पुलिस केम्प नही खोलो जैसे नारे लगाते हुए छोटेडोंगर पहुचे । ग्रामीणों का कहना है कि करियामेटा , छोटेडोंगर और धौड़ाई में अपनी मांगों को लेकर हम पहले भी प्रदर्शन कर चुके है । हमारी मांग है कि आमदई खदान को बंद किया जाए , नवीन पुलिस केम्प बंद किया जाए , करियामेटा के 6 बेकसूर ग्रामीणों को जेल से रिहा किया जाए , बेवजह ग्रामीणों को जेल भेजने बन्द किया जाए जैसी मांगो को लेकर किया था धौड़ाई में 5 दिनों तक अपनी माँगो को लेकर चक्काजाम किया था जिसके बाद जिला प्रशासन ने 15 दिनों का समय मांगा तक शासन तक हमारी बात पहुचाने की । 15 दिनों का समय बीत गया लेकिन अब तक कुछ नही हुआ है इसलिए फिर हमें लामबंद होना पड़ा है ।