breaking news New

लॉकडाउन के कारण तेल की डिमांड में भारी गिरावट

लॉकडाउन के कारण तेल की डिमांड में भारी गिरावट

 

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में  लॉकडाउन के कारण पेट्रोल-डीजल की डिमांड काफी घट गई है। दूसरी तरफ सऊदी अरब और रूस के बीच बाजार पर अधिग्रहण को लेकर प्राइस वार जारी है और दोनों देश उत्पादन घटाने का नाम नहीं ले रहे हैं। घटते डिमांड और बढ़ती सप्लाई के कारण ऐसी स्थिति पैदा हो गई है कि दुनिया में तेल रखने की जगह नहीं है। 


पूरे यूरोप, एशिया, अमेरिका समेत कई देशों में लॉकडाउन जारी है। पब्लिक ट्रांसपोर्ट, ट्रेन और हवाई जहाज का संचालन बंद है। लोग अपने घरों में आइसोलेटेड हैं। पेट्रोल-डीजल की डिमांड में गिरावट का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि भारत में आम दिनों के मुकाबले इसकी मांग 10-20 फीसदी तक रह गई है।


ऑयल कंपनियों का कहना है कि मांग में आई गिरावट के कारण हर बैरल को रिफाइन करने पर उनका नुकसान बढ़ता जा रहा है। अगले कुछ सप्ताह में उनका ऑयल स्टोर भी भर जाएगा। 


कीमत पर नजर डालें तो आज ब्रेंट क्रूड इंटरनैशनल मार्केट में 25 डॉलर के करीब ट्रेड कर रहा है। 30 मार्च को एक समय इसकी कीमत 21 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गई थी। 2 मार्च को कच्चा तेल करीब 51.90 डॉलर था। वहीं WTI क्रूड की बात करें तो आज यह 20 डॉलर प्रति बैरल के करीब ट्रेड कर रहा है। 2 मार्च को इसकी कीमत 46.75 डॉलर प्रति बैरल थी।

chandra shekhar