breaking news New

26 एकड़ में सागौन, अर्जुन, नीम सहित औषधीय पौधे, नर्सरी और गौठान, चारागाह की भी तैयारी

26 एकड़ में सागौन, अर्जुन, नीम सहित औषधीय पौधे, नर्सरी और गौठान, चारागाह की भी तैयारी

कोरिया ।  कलेक्टर श्याम धावड़े ने आज ग्राम पंचायत आनी में 26 एकड़ में तैयार प्रदर्शन वन का निरीक्षण किया। इस 26 एकड़ के क्षेत्रफल में वनीय पौधे और औषधीय पौधे, नर्सरी, गौठान एवं चारागाह शामिल है। कलेक्टर धावड़े ने रोपित पौधों का निरीक्षण करते हुए कहा कि आने वाले समय में यह पर्यटन स्थल के रूप में अपनी पहचान बनाएगा। उन्होंने यहां वन विभाग के माध्यम से बांस की विभिन्न प्रजातियों को भी लगाने के निर्देश दिए। इस दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुणाल दुदावत भी उपस्थित थे।

उल्लेखनीय है कि विभिन्न विभागीय योजनाओं के अभिसरण से ग्राम पंचायत आनी के एक बड़े क्षेत्रफल को वन प्रदर्शन प्रक्षेत्र का स्वरूप प्रदान किया जा रहा है। ग्राम पंचायत आनी में 26 एकड़ भूमि को वन प्रदर्शन प्रक्षेत्र जिला प्रशासन द्वारा तैयार किया जा रहा है। इसमें फलदार पौधों की वाटिका के साथ इमारती और अन्य प्रजातियों के वृक्ष रोपित किये गये है साथ ही औषधीय महत्व के पौधे भी लगाये गये है। इसके साथ ही यहां नरवा गरूवा घुरूवा बारी के समेकित विकास के साथ एक नई पहल की जा रही है। यहॉ गौठान एवं चारागाह तैयार किया जा रहा है।

इनमें मुख्य रूप से सागौन, शीशम, साल, बीजा, तिन्सा, बरगद, पीपल, (करम) हल्दू जैसे सभी प्रजातियों को लगाया गया है। साथ ही फलोद्यान में अच्छी उपज देने वाले आम, नींबू, कटहल, सीताफल, जामुन, लीची, अमरूद आदि पौधों का क्षेत्रवार रोपण किया गया है। औषधीय पौधों की इस मातृवाटिका में वन अजवाइन, शतावर, वनतुलसी, जंगली प्याज, जंगली लहसुन, पत्थरचटा, पत्थरचूर्ण, स्टीविया, एलोवेरा जैसे विभिन्न खूबियों वाले लगभग 20 अलग अलग तरह के पौधों की वाटिका तैयार की गई है। आने वाले समय में यह प्रदर्शन वन क्षेत्र अपने आप में अलग आकर्षण और गौठान ग्राम के ग्रामीणों के लिए आय का स्रोत बनकर उभरेगा।